Rewari News : Covid 19 संकट की घड़ी में भारत विकास परिषद शाखा की अन्नपूर्णा रसोई का संचालन जारी.


"अन्न सेवा- महा सेवा"भारतीय संस्कृति के इस महान उद्धघोषणा एवं परिषद के सेवा प्रकल्प को आधार बना कर "भारत विकास परिषद शाखा रेवाड़ी" अपनी अन्नपूर्णा रसोई का संचालन कर रही है ।

ग्राम समाचार न्यूज रेवाड़ी : (हरियाणा) : COVID-19 महामारी के समय जब भारत सरकार ने लॉक डाउन की घोषणा की तथा लोगों से अपनी संस्कृति के अनुरूप समाज को देख रेख करने की अपील की , उसी के बाद से भारत विकास परिषद शाखा रेवाड़ी ने 27 मार्च से अपनी अन्नपूर्णा रसोई प्रारंभ की  । "सेवा - समाज के प्रति हमारा दायित्व है" के भाव के साथ भारत विकास परिषद के कार्यकर्ताओं ने प्रातः 5 बजे से लेकर सायं 7.30 बजे तक अनवरत चलने वाली रसोई प्रारम्भ की । भोजन निर्माण से लेकर उसका वितरण भी परिषद के कार्यकर्ता सम्भाल रहे हैं। परिषद के अध्यक्ष डॉ रामबाबु यादव, उपाध्यक्ष श्रीं रमेश सचदेवा, सचिव श्री प्रवीण शर्मा एवं कोषाध्यक्ष श्री दिनेश सैनी जी के  देखरेख एवं परिषद के सभी सदस्यों के सहयोग से चलने वाले इस भोजन सेवा प्रकल्प में प्रतिदिन लगभग 1000 लोगों  का भोजन तैयार होता है और जरूरतमंद लोगों के स्थान/घर तक पहुंचाया जाता है। भारत सरकार द्वारा जारी सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए , परिषद के कार्यकार्ताओं ने इस विकट परिस्थिति में अपनी सेवा भावना जारी रखी हुई है तथा पिछले 36 दिनों से लगातार उस वर्ग तक भोजन पहुंचाया  जा रहा है जो इस लॉक डाउन के बाद अपने रोजगार से वंचित हो गया  है।जरूरतमंद लोगों को भोजन सेवा प्रकल्प के अलावा परिषद ने विश्व स्वास्थ्य दिवस पर चिकित्सा कर्मियों का धन्यवाद एवं आभार  व्यक्त किया। परिषद के कार्यकर्ताओं ने पुलिस कर्मियों- सफाई व बिजली कर्मियों का भी पुष्पमाला पहनाकर धन्यवाद  अर्पित किया। परिषद का संकल्प है कि यथासम्भव कोई  व्यक्ति भूखा ना रहे ओर किसी के मन में समाज से अलग होने का भाव पैदा ना हो ।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरियाणा) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें