expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News:विभिन्न मांगों को लेकर अतिथि शिक्षकों ने बनाया मानव श्रृंखला

ग्राम समाचार, भागलपुर। विभिन्न मांगों को लेकर अतिथि शिक्षक संघ के बैनर तले शनिवार को संघ के अध्यक्ष डॉ आनन्द आजाद के नेतृत्व में विश्वविद्यालय प्रशासनिक भवन में अतिथि शिक्षकों ने मानव श्रृंखला बनाकर अपना विरोध जताया। इस दौरान अतिथि शिक्षकों ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। इस मौके पर संघ के अध्यक्ष डॉ आनन्द आजाद ने कहा कि यूजीसी मापदण्ड तथा राजभवन एवं राज्यादेश के निर्देशानुसार राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों में कार्यरत अतिथि शिक्षकों की सेवा नियमित करने, यूजीसी के निर्देशानुसार राजभवन में लिए गए निर्णयानुरूप यथाशीघ्र अतिथि शिक्षकों के मानदेय में वृद्धि करते हुए प्रतिमाह 50000/- रुपए मानदेय भुगतान को ले राज्यादेश जारी करने, विभिन्न अंगीभूत महाविद्यालयों एवं स्नातकोत्तर विभागों में छात्रों के संख्यानुपात में शिक्षकों के पद सृजित करने सम्बन्धी मांगों को लेकर आज हम सभी अतिथि शिक्षकों ने मानव श्रृंखला बनाया है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में उपरोक्त मांगों को लेकर विश्वविद्यालय के साथ साथ प्रदेश स्तर पर आन्दोलन तेज किया जाएगा तथा माननीय उच्च न्यायालय, पटना के वरीय अधिवक्ताओं से मिलकर विधिक सलाह लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। मानव श्रृंखला में डॉ. अरुण पासवान, डॉ.पवन कुमार, डॉ. सत्यम शरणम, डॉ. अमरेन्द्र कुमार, डॉ. अभिषेक आनन्द, डॉ. अजय कुमार झा, डॉ. सुनील कुमार सिंह, डॉ. अफसर अहमद, डॉ. रामानन्द रमण, डॉ. ऋतु कुमारी, डॉ. अनुज रानी, डॉ. चंदा कुमारी, डॉ. आभा भारती, टीना ट्विंकल, डॉ. शहाबुद्दीन, डॉ. अमिताभ वत्स, डॉ. आनन्द सौमित्र, डॉ. संजय कुमार रजक, डॉ. गौरव कुमार, डॉ. अमिताभ वत्स तथा डॉ. श्याम कुमार यादव समेत दर्जनों अतिथि शिक्षक शामिल थे।
Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें