Chandan News: हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर सुईया में डॉक्टर सहित कई व्यवस्थाओं की घोर कमी

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। प्रखंड क्षेत्र के हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र सूईया में सुविधाओं से लेकर डॉक्टरों की घोर कमी है।स्वास्थ केंद्र में इलाज कराने आए लोगो का कहना है,कि लाखों रुपए के लागत से बना सिर्फ अस्पताल दिखावा के लिए है,इस स्वास्थ केंद्र में आवश्यकता के अनुसार जांच की सुविधा नही है।आवश्यकता अनुसार डॉक्टर भी नही है,मात्र एक आयुष चिकित्सक  की सहारे यह स्वास्थ्य केंद्र है। यहा पर कोई भी सर्जन, आंख व शिशुरोग कि डॉक्टर कि इस अस्तपाल में व्यवस्था नही है।अस्पताल में मामूली रोग का इलाज कराने आए रोगियों को साधारण इलाज हेतु चांदन अथवा अन्य अस्पताल भेज दिया जाता है।  यहां पर अस्पताल में तैनात नर्स के सहारे डिलवरी कराया जाता है।अस्पताल में नसबंदी का ऑपरेशन छोड़ अन्य किसी भी रोग ऑपरेशन का व्यवस्था नही है। आस पास के लोगो का कहना था कि जब 


यह अस्पताल बना था,तो लोगो के मन मे एक अजीब सी खुशी जगी थी।और सबने यही सोचा था।कि अब इस अस्पताल में सुइया क्षेत्र वासियों को बेहतर इलाज कि सारी सुविधा मिलेगी। अब गांव से बाहर इलाज को नही जाना पड़ेगा।परंतु ऐसा कुछ नही हुआ है। वहीं 30 जून को अस्पताल की कुव्यवस्था की विडियो वायरल होने से स्वस्थ्य महकमे  में खलबली मच गई थी। ज्ञात हो कि अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र सुईया में पदस्थापित नर्स वीणा कुमारी ने नौ जुलाई को प्रभारी चिकित्सक एके सिन्हा से स्वास्थ्य केंद्र की विधि व्यवस्था में सुधार के लिए सभी वार्डो में पंखा एल आई डी बल्व लगवाने की मांग की गई थी। लेकिन विभागीय उदासीनता से मरीजों को इन सुविधाओं से यहां घोर बना हुआ है। वायरल वीडियो का खबर पत्रकार को लगते ही प्रभारी चिकित्सक एके सिन्हा के आदेश पर स्वास्थ्य केंद्र में अवस्थित सभी वार्डों में पंखा बिजली उपलब्ध कराया गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि स्वास्थ्य केंद्र सुईया में अपुर्ण व्यवस्था पर जिला अधिकारी अंशुल कुमार को संज्ञान लेना चाहिए। 

उमाकांत साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education