Godda News: झारखंड होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक 20 फरवरी



ग्राम समाचार, गोड्डा ब्यूरो रिपोर्ट:- झारखंड होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश संरक्षक सह अध्यक्ष मनोज कुशवाहा ने जिला के तमाम वैसे गृहरक्षकों को सूचित करते हुए आग्रह किया कि आगामी 20 फरवरी दिन रविवार को गोड्डा के ऐतिहासिक गांधी मैदान में दोपहर 12 बजे पहुंचे। कुशवाहा ने कहा कि आप सभी को मालूम है कि पिछले सरकार से लडाई लड़ कर राज्य के गृहरक्षकों के हितों में 55 से 60 वर्ष के गृक्षरक्षकों के बच्चे एवं बच्ची को सरकार के तत्कालीन मुख्य सचिव राजबाला वर्मा के निर्देश पर गोड्डा जिला के तत्कालीन जिला समादेष्टा बबन सिंह के आदेशानुसार कम्पनी कमांडर अमित कुमार द्वारा सभी का शाररिक नाप-जोख करने के बाद सभी से नियुक्ति फर्म "अ" एवं "ग" भरवाया था। उसके बाल उसे ठंडे बास्ते में डाल कर जिले में विज्ञापन निकाल कर नई बहाली प्रक्रिया प्रारंभ कर दिए जिसे तत्कालीन चयन समिति अध्यक्ष-सह-उपायुक्त से मिलकर इसकी जानकारी एसोसिएशन के द्वारा दिया गया था। बहुत ही दुःख के साथ कहना है कि वर्ष 2018 के विज्ञापन पर चार साल के बाद शाररिक जांच करना समझ से परे हैं। सारे नियम और कानून को ताक पर रखकर करना उचित नहीं है। जबकि होमगार्ड में मात्र चार साल के लिए बहाल किया जाता हैं और विज्ञापन निकले चार साल बीत गया। वहीं दूसरी तरफ यही जिला प्रशासन एवं विभाग सरकार द्वारा शत-प्रतिशत डियूटी पर लगाने का आदेश जारी किया हैं| उस पर जिला प्रशासन एवं विभाग चुप्पी साधे हुए हैं, परन्तु नये बहाली के लिए जिला प्रशासन, विभाग व जनप्रतिनिधि एड़ी चोटी एक किए हुए है। वह से सरकार एवं सत्ता पक्ष के विधायक को जब वोट लेना था, तब एक एक होमगार्ड का आशीर्वाद लेते थे और आज हमारे भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे है। उन्होंने कहा कि हम राज्य के गृक्षरक्षकों को एक जुट होकर अपनी आवाज बुलंद कर संघर्ष को तेज करना होगा। कहा की जान दे देंगे परन्तु नयी बहाली नहीं होने देंगे।

Share on Google Plus

Editor - भूपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education