Bounsi News: खाना बनाने के क्रम में लगी आग से हजारों की संपत्ति का हुआ नुकसान

ग्राम समाचार,बौंसी,बांका। बौंसी थाना क्षेत्र अंतर्गत सिकंदरपुर पंचायत स्थित कोड़ाबांध गांव में खाना बनाने के क्रम में आग लगने से लगभग हजारों की संपत्ति का नुकसान हो गया है। घटना सोमवार की बताई जा रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोड़ाबांध निवासी ताला किस्कू की 40 वर्षीय पुत्री नीलम किस्कू अपने घर में खाना बना रही थी। खाना चढ़ाकर कुछ देर के लिए वह शौच के लिए गई थी। इसी क्रम में घर में आग लग गई। ग्रामीणों के अथक प्रयास से आग पर काबू पाया गया। बताया गया कि, घर में रखा राशन,कपड़ा सहित घर का सारा सामान जलकर राख हो गया। हालांकि अभी तक ठीक-ठीक आकलन नहीं हो पाया है कि, कितनी संपत्ति का नुकसान हुआ है। मालूम हो कि, नीलम किस्कू ग्रामीणों के कथित तौर पर मानसिक रूप से कमजोर है और वह अपने माता-पिता से अलग रहती है। बताया जा रहा है कि, इंदिरा आवास 


योजना से घर को बनाया गया था। जो कि अब पूरी तरह से जलकर राख हो गया है। यहां तक की जो वस्त्र व पहनी हुई थी सिर्फ वही बच पाया है। बाकी सारा सामान जलकर राख हो गया है। बताया जा रहा है कि महिला काफी गरीब है। इधर उधर से मांग कर वह अपना जीवन यापन कर रही थी। घर में आग लगने से कुछ भी नहीं बच पाया है। ऐसे में पीड़ित महिला खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर है। हालांकि आग लगने की घटना की सूचना दमकल कर्मियों को नहीं दी गई थी। अफरा तफरी में इसकी सूचना नहीं दी गई। हालांकि ग्रामीणों के अथक प्रयास से आग पर काबू पाया गया। आग की लपट इतनी भयावह थी कि, उसमे घर धू-धू कर जलने लगा और सारा सामान को अपने अंदर निंगल गया। आग लगने से पीड़ित महिला के सामने विकट स्थिति खड़ी हो गई है। अब वह खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर है। ग्रामीणों का कहना है कि, गरीब असहाय महिला को अंचल कार्यालय से मुआवजा मिलना चाहिए। हालांकि खबर लिखे जाने तक घटना की सूचना अंचल कार्यालय को नहीं दी गई थी।

कुमार चंदन,ग्राम समाचार संवाददाता,बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education