Rewari News : भाजपा के शासनकाल में भारत में अरबपतियों की संख्या में इजाफा हुआ, गरीबों की संख्या दोगुनी हुई : कैप्टन अजय

कैप्टन अजय सिंह यादव ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में एक ओर भारत में अरबपतियों की संख्या में इजाफा हुआ है, वहीं दूसरी ओर गरीबी भी तेजी से बढ़ती जा रही है। ऑक्सफैम इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक देश में पिछले साल गरीबों की संख्या दोगुनी हो गई है पिछले साल 2021 में 4 करोड 60 लाख और घर गरीबी रेखा से नीचे चले गए हैं, वहीं 84 प्रतिशत घरों की कमाई घटी है। जबकि देश में 40 नए अरबपति बने हैं। इस बीच भारत अरबपतियों की संख्या के मामले में दुनिया के कई देशों से आगे निकल चुका है। देश के अरबपतियों में गौतम अडाणी की संपत्ति में पिछले साल जोरदार इजाफा दर्ज किया गया। 



यादव ने बताया कि रिपोर्ट के अनुसार कोरोना महामारी से दुनिया परेशान है और अब ओमिक्रॉन वैरिएंट ने फिर से चिंता के बादल खड़े कर दिए हैं। रिपोर्ट में बताया गया कि कोरोना काल में एक ओर जहां गरीबों के सामने खाने का संकट पैदा हो गया है, लेकिन वहीं अमीर लोगों की संपत्ति में जोरदार इजाफा हुआ है। कोरोना काल में भारतीय अरबपतियों की कुल संपत्ति दोगुनी हो गई। वहीं देश में बेराजगारी बहूत ज्यादा बढ चुकी है। लेकिन इस सच्चाई को कोई न्यूज चैनल या कोई बडा अखबार नही दिखा रहा है जोकि लोकतंत्र को खतरा है। कैप्टन अजय सिंह ने कहा कि ऑक्सफैम इंडिया की रिर्पोट के अनुसार बिलियनेयर्स इंडेक्स पर अगर नजर डालें तो दुनिया के 500 सबसे ज्यादा अमीर लोगों ने पिछले साल अपनी नेट वर्थ में 1 ट्रिलियन डॉलर से ज्यादा की बढ़ोतरी दर्ज की है। ऑक्सफैम ने कहा कि भारत, जहां शहरी बेरोजगारी पिछले मई में 15 फीसदी तक बढ़ गई थी और खाद्य असुरक्षा खराब हो गई थी, अब फ्रांस, स्वीडन और स्विटजरलैंड की तुलना में अधिक अरबपति वाला देश बन चुका है। 

ऑक्सफैम के मुताबिक, देश में अरबपतियों की संख्या में 39 फीसदी की दर से तेजी आई है और 40 नए अरबपति बने। इस बढ़ोतरी के साथ वर्तमान में देश के अरबपतियों की कुल संख्या 142 हो गई है। ऑक्सफैम ने असमानता पर एक रिपोर्ट में कहा कि देश के अरबपतियों के पास संयुक्त संपत्ति लगभग 720 अरब डॉलर करीब 53 लाख करोड़ रुपये है, जो कि देश की सबसे गरीब 40 फीसदी आबादी से अधिक है। ऑक्सफैम ने अपनी हालिया जारी रिपोर्ट में यह सिफारिश की है कि केंद्र सरकार को स्वास्थ्य और शिक्षा में निवेश करने के लिए देश की सबसे अमीर 10 प्रतिशत आबादी पर 1 फीसदी सरचार्ज लगाना चाहिए। रिपोर्ट में विशेषज्ञों ने कहा है कि देश के टॉप 10 रईसों के पास इतनी दौलत मौजूद है कि वे देश के सभी स्कूलों और कॉलेजों को अगले 25 सालों तक फंड कर सकते हैं।  

यादव ने कह कि सरकार का काम है राजस्व एकत्रित करना लेकिन सरकार ने कोरपोरेट का टैक्स 30 प्रतिशत से घटाकर 22 प्रतिशत कर दिया है और छोटी कंपनियों में 25 प्रतिशत से 15 प्रतिशत कर दिया गया है जिससे देश को डेढ लाख करोड का नुक्सान हुआ हैं। इस नुक्सान हो पूरा करन के लिए लोगों पर अप्रत्यक्ष कर लगा दिया गया है जोकि गलत है। भाजपा सरकार में गरीब और गरीब हो रहा है और अमीर और ज्यादा अमीर हो रहा है।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education