Rewari News : तेल पाइप लाइन से चोरी करने वाले अंतर राज्य गिरोह के 9 सदस्य गिरफ्तार

रेवाड़ी की सीआईए धारूहेड़ा थाना पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है पुलिस ने पुलिस ने पेट्रोलियम पाइपलाइन से तेल चोरी के मामले मे अंतरराज्यीय चोर गिरोह के 9 सदस्यों को पकड़ने में सफलता हासिल की है. पकड़े गए आरोपियों के खुलासे के संबंध मे एसपी राजेश कुमार ने शनिवार को अपने कार्यालय मे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसका खुलासा किया। प्रेस कॉन्फस के दौरान डीएसपी राजेश चेची और  सीआईए प्रभारी अजय सिंह भी मौजूद रहे. 



पत्रकार वार्ता मे जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने बतलाया कि सीआईए धारुहेड़ा पुलिस ने पेट्रोलियम पाइपलाइन से तेल चोरी करने वाले अंतर्राजीय गिरोह का पर्दाफ़ाश करते हुए कुल 9 आरोपियों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से कुल दो बड़े और दो छोटे टैंकर सहित 7 गाडियाँ, 1 पंप मशीन व 1 मोटर बरामद की है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान सोनीपत जिले के गाँव चटिया देवा निवासी रवि कुमार उर्फ कर्ण, सोनीपत जिले के सलीमपुर निवासी हरीश उर्फ मिस्त्री व अनिल उर्फ सोनू, सोनीपत के विकास नगर निवासी रवीन्द्र उर्फ बल्लु उर्फ चिरकुट, दिल्ली के लाडपुर कंझावला निवासी विजय उर्फ अजय उर्फ भोला, सोनिपत जिले के गाँव नाहरा निवासी बिन्द्र, यूपी के मुजफ्फर नगर जिले के मुकंदपुर निवासी सूरज व सन्नी, यूपी के बागपत जिले गाँव भगोठ निवासी मनीष उर्फ सुंड के रूप मे हुई है। 



पुलिस अधीक्षक महोदय ने बतलाया कि दिनांक 25 दिसम्बर 2021 को थाना रामपुरा मे भी पेट्रोलियम तेल पाईपलाईन से तेल चोरी का मामला दर्ज हुआ था। जिस पर पुलिस अधीक्षक ने स्वयं संज्ञान लेते हुए आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमे गठित की गई थी। जिन पर कार्रवाई करते हुए सीआईए धारुहेड़ा पुलिस की टीम ने साईबर सेल की मदद से पेट्रोलियम तेल पाईप लाईन से तेल चोरी करने वाले अंतर्राजीय गिरोह का पर्दाफ़ाश करते हुए कुल 9 आरोपियों को दबिश देकर गिरफ्तार किया है। दिनांक 23 मार्च 2021 व दिनांक 10 अप्रैल 2021 को भी थाना बावल क्षेत्र मे हिन्दुस्तान पैट्रोलियम कोरपरेशन लिमिटटेड(HPCL) की बिछी तेल की पाईप लाइन को क्षतिग्रस्त करके तेल चोरी के मामले दर्ज किए थे। इससे पूर्व पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 7 गाडियाँ भी बरामद की है। जिसमे 2 बड़े टेंकर जिसमे एक मे कुल 22 हजार लीटर लगभग 21 लाख रुपये का  पेट्रोल भरा हुआ था तथा एक टेंकर खाली था। इसके अलावा दो टाटा 409 केंटर जिनमे कुछ प्लास्टिक व लोहे के ड्रम रखे हुए थे जिनमे कुछ पेट्रोलियम पदार्थ के भरे हुए हैं। एक केंटर मे 12 प्लास्टिक की केन बरामद जिनमे कुछ खाली व कुछ भरी हुई है। इसके अलावा दो छोटे खाली टेंकर जिसमे एक टाटा 407 व एक जायलो टेंकर शामिल है। इसके अलावा आरोपियों के कब्जे से पानी उठाने वाली एक मोटर व एक तेल बदलने वाली पंप मशीन भी बरामद हुई है। बरामद किया हुआ पैट्रोल इन्होने एक सप्ताह पहले जिला रोहतक के भैन्सरू गांव के पास पाइपलाइन से चोरी किया था। जिसके बारे में तेल कंपनी को भी नही पता था जिसके बारे में सम्बन्धित तेल कंपनी को सुचना दी गई है। जांच के दौरान सामने आया कि उक्त आरोपी रेवाड़ी जिले के अलावा सोनीपत, पानीपत, बहादुरगढ़, रोहतक के सांपला व दिल्ली मे भी पेट्रोलियम तेल पाईप लाइन से तेल चोरी की वारदातों मे शामिल थे।

यह गिरोह 2-3 दिन पहले वारदात करने कि जगह पर रेकी करते थे तथा निश्चित होने के बाद ये आरोपी हरीश को बुलाते हैं जो कि वैल्डिंग का काम करता है तथा पाइपलाइन में सुराख करने तथा वाल्व लगाने में एक्सपर्ट है। आरोपी हरीश पाइपलाइन में सुराख करके उसमे वाल्व लगा कर मिट्टी से भरे कट्टों से दबा देता था तथा अगले दिन पुरी टीम आकार पाइपलाइन में लगे हुए वाल्व से टैंकर में तेल भरते थे। आरोपी हरीश प्रत्येक पाइपलाइन में सुराख करके वाल्व लगाने के 50000/- रूपए लेता था। आरोपी हरीश 2017 से तेल चोरी का काम कर रहा है तथा इस पर पहले भी तेल चोरी के 9-10 मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी दिल्ली तथा झज्जर की जेल में भी लगभग 26 महीने बंद रहा है और 2020 में जेल से बाहर आया था। जेल से बाहर आते ही हरीश की मुलाकात सुनील उर्फ बाण्डा व दिनेश राठी से हुई और हरीश से कहा की हम सब मिलकर तेल चोरी का काम करना चाहते है। तेरे जैसा वैल्डर नही है जो तेल की पाईप लाईन मे सुराग करके वाल्व लगा सके। जेल मे रहने के कारण हरीश की हालात खस्ता हो गई थी इस वजह से उनके साथ काम करने की हां कर दी। 

पुलिस आरोपियों से और अधिक जानकारी जुटाने के लिए गहनता से पूछताछ कर रही है। बाकी बचे आरोपियों की धर पकड के लिए तथा वारदात में प्रयोग किए गए उपकरण व वाहन बरामद करने ले लिए सीआईए की टीम हरियाणा, उत्तर प्रदेश और दिल्ली के संदिग्ध ठिकानों पर निरंतर छापे मार रही है और जल्द उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा। 

मोबाइल चोरी के मामले में दो आरोपी गिरफ्तार

कोसली थाना पुलिस ने कमरे से तीन मोबाइल फोन चोरी करने के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान टूमना निवासी देवेंद्र उर्फ देवू तथा रवि उर्फ ढिल्लू के रूप में हुई है। जानकारी देते हुए जांचकर्ता एच सी महेश ने बताया की बृहस्पतिवार को गुजरवास निवासी संजय ने शिकायत दी की मैं और मेरे साथी हरविन्द्र, संजीत तथा कपिल कोसली में फिजिकल की कोचिंग ले रहे हैं। 30 सितंबर 2021 की रात हम चारों एकेडमी में सोये हुए थे। सुबह जब हम उठे तो हमें हमारे मोबाइल नहीं मिले। पुलिस ने संजय की शिकायत पर चोरी का मामला दर्ज करके मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों को आज अदालत में पेश करके दो दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया है।

 

सीआईए रेवाड़ी ने हत्या के मामले में आजीवन सजा के फरार हुए आरोपी को किया गिरफ्तार
-18 नवंबर को आरोपी अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत से फरार हो गया था, 24 नवंबार को सुनाई थी आजीवन कारावास की सजा

अपराध अनुसंधान शाखा रेवाड़ी पुलिस ने अतिरिक्त एवं जिला सत्र न्यायाधीश की अदालत द्वारा आजीवन सजा पाए हुए फरार आरोपी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी की पहचान शहर की धारूहेड़ा चुंगी वाल्मीकि बस्ती निवासी सुनील कुमार के रूप में हुई है। आरोपी को पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया गया है।

जांच अधिकारी ने बताया कि शहर थाना पुलिस ने 2017 में दुर्गा कॉलोनी निवासी देवेंद्र की शिकायत पर हत्याहत्या के प्रयास और आर्म्स एक्ट में मामला दर्ज किया था। शिकायतकर्ता ने बताया था कि वह अपने साथी नई आबादी निवासी संजय उर्फ चवन्नी के साथ मोटरसाइकिल से धारूहेड़ा चुंगी से पुरानी तहसील की तरफ जा रहे थे। रास्ते में सुनीलयोगेश उर्फ भोटातन्नूअरुण के अतिरिक्त पवनचेतन व सन्नी खड़े थे हुए। आरोप था कि उन्होंने दोनों पर गोली चला दी थी। दोनों गोली से बाल-बाल बच गए थे। गोली से बचने के बाद सभी ने लोहे की राड व सरियों से हमला कर दिया था और दोनों के साथ जम कर मारपीट की थी। वारदात में नई आबादी निवासी संजय उर्फ चवन्नी की मौत हो गई थी। शहर थाना पुलिस ने हत्याहत्या के प्रयास व आर्म्स एक्ट सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। शहर पुलिस की तरफ से इस मामले में जांच के बाद अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में चालान पेश किया था। सेशन जज सरताज बासवाना की अदालत ने 18 नवंबर को आरोपी सुनील कुमार सहित अन्य 6 आरोपियों को दोषी करार दिया था। दोषी करार देने के बाद आरोपी सुनील अदालत से फरार हो गया था। इसके बाद अदालत ने उसे 24 नवंबर को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। पुलिस द्वारा मामला दर्ज करने के बाद जांच करते हुए आरोपी का सुराग लगाते हुए उसे शुक्रवार की शाम को कोर्ट के समीप से गिरफ्तार कर लिया।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education