Chandan News: एक तरफ नशा मुक्त बिहार का शपथ, दुसरी तरफ उसी दिन प्रखंड कार्यालय परिसर में मिला आधा दर्जन विदेशी शराब की खाली बोतल

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। ज्ञात हो कि 26 नवंबर को राज्य सरकार द्वारा नशा मुक्ति बिहार बनाने का पटना के ज्ञान भवन में नशा मुक्त बिहार बनाने का संकल्प लिया और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के सभी सरकारी कार्यालय के प्रांगण में प्रशासनिक अधिकारी के द्वारा नशा मुक्त एवं आजीवन शराब का सेवन नहीं करने का संकल्प लिया।।और शराब सेवन करने के लिए किसी को प्रेरित नही करने की शपथ दिलाई गई। लेकिन उसी रात चांदन प्रखंड मुख्यालय परिसर में विदेशी शराब की आधा दर्जन खाली बोतल मिलने कि ख़बर से प्रखंड के प्रशासनिक अधिकारियों में कुछ देर के लिए अफरा-तफरी का माहौल कायम रहा। ज्ञात हो कि आगामी 29 नवंबर को पंचायत चुनाव को लेकर  बीते 5 दिनों से वाहनों की धर पकड़ का काम 24 घंटों चल रहा है और दर्जन भर कर्मी 

दिन रात इस कार्य मे जुटे हुए हैं। और तो और ऐसे में खाली शराब की बोतलें प्रखंड कार्यालय परिसर में मिलना नशा मुक्त बिहार बनने का सवालिया निशान खड़ा कर रहा है। हालांकि घटना की सूचना पर प्रखंड  के वरीय पदाधिकारियों ने आनन फानन मे खाली बोतलों को ठिकाने लगवा कर राहत की सांस तो ले ली है ।आशंका यह व्यक्त की जा रही है कि या तो रात्रि ड्यूटी मे तैनात किसी कर्मियों द्वारा इसका उपयोग किया गया हो या फिर परिसर में जब्त वाहन चालकों द्वारा इसका सेवन किया जा रहा हो।शराब का सेवन चाहे जिस किसी ने किया है यह प्रशासन के लिए खुली चुनौती से कम नहीं है।ऐसे में मुख्यमंत्री का यह शपथ कार्यक्रम अपने आप में एक सवालिया निशान है। औऱ इसकी सफलता पर खुद प्रश्न चिंह खड़ा करता है। इस संबंध में निर्वाची पदाधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि यह चिंताजनक कि बात है। अब देखना यह है कि प्रशासन के द्वारा शराब बंदी कानून को किस तरह सफल बनाते हैं।

उमाकान्त साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education