Rewari News : अर्णिका भारद्वाज रही 'श्रीराम काव्यपाठ प्रतियोगिता की जिला-विजेता'

 

रेवाड़ी, 14 अक्टूबर राष्ट्रीय कवि संगम, रेवाड़ी के तत्त्वावधान में जिला मुख्यालय स्थित आरपीएस इंटरनेशनल स्कूल में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम पर आधारित श्रीराम राष्ट्रीय काव्य-पाठ प्रतियोगिता के जिला स्तर के विजेताओं को सम्मानित किया गया।



उक्त जानकारी देते हुए राष्ट्रीय कवि संगम के जिलाध्यक्ष मुकुट अग्रवाल ने बताया कि गत माह गूगोढ, कोसली व रेवाड़ी सहित जिले भर में कुल आठ स्थानों पर हुई प्रतियोगिताओं में 270 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था। ऑनलाइन आयोजित की गई अंतिम प्रतियोगिता में विजेता रहे प्रतिभागियों में अर्णिका भारद्वाज ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। शिक्षाविद् पुनीत कुमार व रंगकर्मी आकाश सक्सेना द्वितीय स्थान पर रहे तथा अवयुक्त भारद्वाज व नव्या अमर तीसरा स्थान हासिल किया। युवा कवि मनोज कौशिक, शिक्षिका मीनू सपड़ा विद्यार्थी व कु. श्रेया ने श्रेष्ठ काव्यपाठ कर सांत्वना पुरस्कार हासिल किया।

प्रतियोगिता के जिला संयोजक अरविंद भारद्वाज ने बताया कि भगवान श्रीराम जनमानस के अंतर्मन में रचे-बसे हैं! राष्ट्रीय कवि संगम का प्रमुख उद्देश्य कविताओं के माध्यम से आने वाली पीढ़ियों को श्रीराम के पावन चरित्र से अवगत कराना है।

शिक्षाविद व रंगकर्मी पुनीत कुमार ने रामायण से संबंधित प्रेरक प्रसंग सुना कर बच्चों को राम के समान बनने के लिए प्रेरित किया।

समारोह अध्यक्ष मुकुट अग्रवाल द्वारा सरस्वती वंदना के साथ शुरू हुए इस कार्यक्रम में प्राचार्या प्रीति लांबा, कार्यक्रम संयोजिका श्रीमती आभा तिवारी और वरिष्ठ रचनाकार मास्टर रामअवतार ने भी बच्चों को प्रेरक बातें बताई। इस अवसर पर सविता पाठक, प्रीति नामदेव, मंजू उपाध्याय, गीता दुआ, राकेश शर्मा, पूजा अग्रवाल, कंचन शर्मा, शैली कोचर, उर्मिला भारद्वाज, सुमनलता आदि शिक्षकों सहित सैकड़ो विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education