Jamtara News:चढ़ावा नहीं देने की स्थिति में सामान्य गर्भवती महिला को सिजेरियन एवं प्रसव के लिए सदर अस्पताल से रेफर कर दिया जाता था।

 

   सदर अस्पताल के महिला वार्ड में प्रवेश करने से पूर्व महिला से          पूछताछ करती महिला सुरक्षाकर्मी।


ग्राम समाचार जामताड़ा।- अब सदर अस्पताल से बेवजह गर्भवती महिला का रेफर नहीं होगा इतना ही नहीं प्रसव एवं सिजेरियन के लिए जेब ढीला नहीं करना पड़ेगा। इस व्यवस्था को सशक्त एवं सुदृढ़ बनाने के लिए सदर अस्पताल के दूसरे मंजिल स्थित महिला वार्ड एवं प्रसव कक्ष के प्रवेश द्वार पर महिला सुरक्षा कर्मियों की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है। महिला सुरक्षा कर्मी बिचोलिया गिरी करने वाले सहिया एवं अन्य महिलाओं को बेवजह प्रवेश द्वार में अंदर जाने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। पिछले दिनों सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ चंद्रशेखर आजाद के समक्ष दर्जनों ऐसी शिकायतें पहुंची थी की सामान्य प्रसव एवं सिजेरियन वाले मरीजों को  बिचोलिया सहिया एवं कुछ खास महिला के इशारे पर चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मियों की मिलीभगत से सदर अस्पताल से बेवजह रेफर कर दिया जाता था। और संबंधित सहिया उक्त गर्भवती महिला को प्रसव कराने के लिए जिला मुख्यालय शहर के निजी क्लीनिक में भर्ती कर आता था जहां बतौर कमीशन उन्हें मिलती थी लेकिन गर्भवती महिला के परिवार वालों को मोटा रकम चुकाना पड़ता था। इतना ही नहीं प्रसव एवं सिजेरियन के एवज में मोटा रकम चुकाने वाले गर्भवती का परसों एवं सिजेरियन सदर अस्पताल में ही कर दिया जाता था। इस समस्या को अस्पताल उपाधीक्षक ने गंभीरता से लिया और बारीकी से जांच शुरू की जांच के क्रम में कई ऐसे संदिग्ध मामले की सत्यता पाई गई। समस्या के निदान को लेकर उपाधीक्षक ने महिला पुलिस कर्मी की मांग की तत्काल पुलिस विभाग ने एक महिला सुरक्षा कर्मी की प्रतिनियुक्ति सदर अस्पताल में की है जबकि अन्य दो महिला सुरक्षाकर्मी की प्रतिनियुक्ति की प्रक्रिया अंतिम चरण में चल रही है। उपाधीक्षक डॉ चंद्रशेखर आजाद ने बताया की सदर अस्पताल में प्रसव एवं सिजेरियन के सभी सुविधा उपलब्ध है इतना ही नहीं जिले में अब ब्लड बैंक की भी स्थापना हुई है इसके बावजूद कमीशन की हेराफेरी में मरीजों का रेफर होना अन्याय था। इन समस्या के निदान के लिए स्वयं गंभीर हूं और प्रतिनियुक्त महिला सुरक्षाकर्मी को निर्देश दिया गया है कि मरीज से संबंधित सहिया को प्रवेश की अनुमति दें महिला सुरक्षा कर्मी को आधा दर्जन बिचोलिया प्रवृत्ति किस्म के सहिया का नाम स्मरण कराया गया है जिस पर महिला सुरक्षाकर्मी की पैनी नजर होगी।

-- अस्पताल उपाधीक्षक के अनुमति के बाद होगा रेफर : जामताड़ा सदर अस्पताल में पदस्थापित महिला चिकित्सक एवं प्रसव कक्ष में पदस्थापित स्वास्थ्य कर्मियों को निर्देश दिया गया है कि वैसे गर्भवती महिला जो प्रसव एवं सिजेरियन के लिए सदर अस्पताल से रेफर करने योग्य है। उक्त गर्भवती महिला के व्यापार करने से पूर्व अस्पताल उपाधीक्षक से अनुमति प्राप्त करें बगैर अनुमति प्राप्त गर्भवती महिला को रेफर करने पर चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मी कार्रवाई के भागी बनेंगे।

Share on Google Plus

Editor - कौशल औझा, जामताड़ा (झारखंड)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education