बांका न्यूज: आइए जानें वज्रपात अथवा आसमानी बिजली गिरने से क्या करें या ना करें

ब्यूरो रिपोर्ट,ग्राम समाचार,बांका। 

ठनका ( वज्रपात) अथवा आसमानी बिजली गिरने से बचाव हेतु सुरक्षा के उपाय से संबंधित सलाह क्या करें - घर से किसी कार्यवश निकलने के पहले देख लें कि मौसम कैसा है और जब आसमान में घने बादल घिरे हों, वर्षा या बज्रपात होने की संभावना हो तो -  > यदि आप खुले में हो तो शीघ्राशीघ्र किसी पक्के मकान में शरण ले। यदि आप किसी वाहन में सफर कर रहे हैं तो अपने वाहन में ही रहें। खिड़कियाँ, दरवाजे बरामदे एवं छत से दूर रहें। ऐसी वस्तुएँ, जो बिजली की सुचालक है, उनसे दूर रहें। बिजली के उपकरणों को बिजली के संपर्क से हटा दें। तलाब और जलाशयों से भी दूरी बनायें रखें। > यदि आप जंगल में हो तो बौने एवं घने पेड़ों की शरण में चले जायें। धातु से बने कृषि यंत्र - डडा आदि से अपने को दूर कर दें। स्थानीय रेडियो अन्य संचार 

साधनों से मौसम की जानकारी प्राप्त करते रहें। ➤ आसमानी बिजली के झटके से घायल होने पर पीड़ित व्यक्ति को तत्काल नजदीकी प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र ले जाने की व्यवस्था करें। यह सुनिश्चित कर ले कि पीड़ित की नाडी एवं श्वास चल रही है। ठनका के मामले में मृत्यु का तात्कालिक कारण हृदयाघात होता है। अगर जरूरी हो तो "संजीवन क्रिया' प्रारंभ कर दें। यदि आप खेत खलिहान में काम कर रहे हों और किसी सुरक्षित स्थान की शरण न ले पायें हों तो (क) जहा है वहीं रहे, हो सके तो पैरों के नीचे सूखी चीजें जैसे लकडी, प्लास्टिक, बोरा या सूखे पत्ते रख ले। (ख) दोनों पैरों को आपस में सटा लें एवं दोनों हाथों को घुटनों पर रख कर अपने सिर को जमीन के तरफ यथा संभव झुका लें तथा सिर को जमीन से न 

सटाए। क्या न करें :- जब आसमान में घने बादल घिरे हो, वर्षा व वज्रपात होने की संभावना हो छत पर ने जायें। तो - बिजली, टेलीफोन या मोबाईल टावर के नजदीक न जायें और न ही उसका कोई सहारा लें। पेड़ के नीचे शरण न लें इसमें भी वैसे पेड़ जो अकेला हो उसके नीचे कदापि न जायें। उँची इमारत वाले क्षेत्रों में शरण नहीं लें। लोहे की डंडी वाले छातों का उपयोग न करें। तालाब, नदी, नहर, या किसी भी जल निकाय में जानवरों को धोने या मछली पकड़ने न जाये। बिजली के उपकरणों का प्रयोग न करें। यदि आप खुले में बाहर हैं तो मोबाईल फोन का प्रयोग न करें। पानी भरे खेतों में न जाये। समूह में नहीं रहे अर्थात् लोगों से दूरी बना लें और सभी को दूरी बनाने के लिए कहें। यदि आप घर में हैं तो खिड़की के किनारे या दरवाजे के बाहर न खड़े रहे। यदि आप खुले में हैं तो जमीन पर कदापि न लेटें । 

कुमार चंदन,ग्राम समाचार संवाददाता,बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education