चांदन न्यूज: अच्छे मानसून में हुई बारिश से किसान हुए खुशहाल

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। प्रखंड क्षेत्र में पिछले कई दिनों से बारिश नहीं होने के कारण धान की रोपाई का कार्य बाधित हो रहा था।क्योंकि भूगर्भ जल का स्तर अभी भी पर्याप्त नहीं बन पाया था। जिस कारण से किसान डीजल पंप सेट के द्वारा पानी सिंचना मुश्किल हो रहा था। डीजल पंपसेट असफल हो रहे थे, हालांकि कुछ किसान जिन्हें बिजली की सुविधा है वह समरसेबल पंप के द्वारा यत्र -तत्र रोपाई कर रहे थे। किंतु इंद्रदेव  के आंख मिचौली के बीच इधर 23 जुलाई को अच्छी बारिश हुई।  जिससे लगभग सभी खेत में पर्याप्त पानी उपलब्ध हो गया । और तेजी से रोपाई का कार्य में किसान लग गए हैं।हर एक गांव के सभी ट्रैक्टर खेत की जुताई के काम में लगे हुए हैं। ज्योंही बारिश हुई  किसान ट्रैक्टर वाले के पास आने जाने लगे और जुताई का कार्य तीव्र गति से जारी है। इसी तरह से अगर तीन-चार दिन बाद पुन: एक बार बारिश होती तो किसान बखूबी अपने रोपाई 

का कार्य सम्पन्न कर लेंगे। इसके पूर्व भी धान की सीधी बुआई जीरो टीलेज से के माध्यम से कर चुके हैं । उनके लिए इस वारिश ने सोने पर सुहागा साबित कर दिया है। इधर किसान चांदन के सिकंदर यादव ,के साथ अन्य किसानों ने बताया कि बिहार सरकार के द्वारा 90% छूट के साथ धान का बीज इत्यादि उपलब्ध कराया गया है जो किसानों के लिए बहुत अच्छी बात है। समय पर धान की बिचड़ा तैयार हो गई है। जहां अच्छी बारिश होने से खेतों में पर्याप्त पानी उपलब्ध है जिसे देखते हुए धान रोपनी में लग गए हैं। इस वारिश से अत्यधिक किसान प्रसन्न हैं ।कृषि विभाग के सहायक तकनीकि प्रबंधक ने कहा कि अगर इसी तरीके से समय के साथ किसान वैज्ञानिक पद्धति पर आधारित खेती करेगे तो उनकी आमदनी बढेगी और मेहनत एवं लागत में भी कमी आएगी। तथा खेती करने वाले किसान के साथ अन्य लोग भी किसानी से जुड़ने में सहजता महसूस करेगे। जिससे बिहार की आर्थिक स्थिति सुदृढ होगी।

उमाकांत साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education