Rewari News : वर्ष 2006 से सीनियर डेंटल सर्जन का डायरेक्टर डेंटल की पोस्ट पर पदोन्नति ना होना दुर्भाग्यपूर्ण- डॉ इंद्रजीत यादव




ग्राम समाचार न्यूज : हरियाणा : 24 मार्च 2021 को माननीय मुख्यमंत्री, एडीशनल चीफ सेक्रेट्री हेल्थ श्री राजीव अरोड़ा जी, एडिशनल चीफ सेक्टरी फाइनेंस टीवीएसएन प्रसाद जी तथा हरियाणा सिविल डेंटल सर्जन एसोसिएशन के पदाधिकारियों  मैं तीन प्रमुख मांगों पर सहमति बनी थी जिनको  माननीय सस्वास्थ्यमंत्री  श्री अनिल विज जी द्वारा पहले ही अप्रूव किया जा चुका है.  इनके बावजूद भी अधिकारियों द्वारा  तीनों मांगों  को अभी तक इंप्लीमेंट नहीं किया गया  है  यह तीन प्रमुख मांगे इस प्रकार हैं*


1. *डेंटल सर्जन का पद नाम बदलकर मेडिकल ऑफिसर  डेंटल किया जाए  जैसा कि केंद्र सरकार तथा अन्य राज्यों में किया जा रहा है*

2. *डेंटल सर्जन की  एंट्री ग्रुप ए में की जाए जिसमें जिसमें पे स्केल 15600 से 39100  प्लस ग्रेड पे 5400 किया जाए   तथा डेंटल सर्जन को तीन एसीपी(assured career progression) 5,10, 15 साल की  सर्विस पर 100% कैडर को दी जाए  जो कि अभी 5,11 साल की सर्विस पर सिर्फ 25%कैडर, 3rd ACP 17 साल की सर्विस पर सिर्फ 20% कैडर को दी जा रही ह ( अबसलूट पैरिटी  विद मेडिकल ऑफिसर  डेंटल)*


3. *स्टेट हेड क्वार्टर पर डिप्टी डायरेक्टर डेंटल  की एक पोस्ट सर्जित की जाए  तथा डिस्टिक हेड क्वार्टर पर डिप्टी सिविल सर्जन  डेंटल की तुरंत पोस्टिंग की जाए*


*वर्ष 2005 से अब तक डॉक्टर प्रवीन सेठी  डायरेक्टर  डेंटल बने हुए हैं*


*सरकार को यह देखना चाहिए कि एडमिनिस्ट्रेटिव पोस्ट पर  लगातार 3 साल से ज्यादा कार्यकाल ना हो. लंबे कार्यकाल की वजह से अधिकारी कैडर के अच्छे कार्य की फाइलों पर  कुंडली मार कर बैठते हैं  तथा अन्य अधिकारियों को उनका उचित सम्मान  एवं पदोन्नति नहीं मिल पाती  है*


*हेल्थ डिपार्टमेंट हरियाणा में खाली पड़ी डेंटल सर्जन की पोस्ट को   तुरंत भरा जाए  तथा डब्ल्यूएचओ ( डेंटिस्ट पापुलेशन रेशो)के हिसाब से डेंटल सर्जन की पोस्ट हरियाणा में  सब सेंटर लेवल पर की जाए ताकि ओरल कैंसर तथा मुख्य संबंधित अन्य रोगों की पहचान तथा निदान  शुरुआती लेवल पर किया जा सके*

 हेल्थ डिपार्टमेंट  हरियाणा में कार्यरत डेंटल सर्जन ने  पंडेमिक  कोविड-19 के दौरान  फ्रंटलाइन  कोरोना योद्धा के रूप में कार्य किया है.


  डॉ इंद्रजीत यादव अध्यक्ष हरियाणा सिविल  डेंटल सर्जन एसोसिएशन ने बताया कि  हेल्थ डिपार्टमेंट हरियाणा में कार्यरत सभी डेंटल सर्जन ने  अपनी कोविड  ड्यूटी बाखूबी निभाई है  तथा अभी भी निभा रहे हैं जिसके लिए सभी अधिकारी बधाई के पात्र हैं.


  डेंटल सर्जन को उच्च अधिकारियों द्वारा आइसोलेशन वार्ड  ड्यूटी, मोबाइल  हेल्थ टीम इंचार्ज, माइग्रेंट लेबर हेल्थ चैक अप, कॉविड सेंपलिंग, सिरो सर्वे,  डेडीकेटेड कोविड  हॉस्पिटल ड्यूटी, क्वारैंटीन सेंटर इंचार्ज  ड्यूटी लगाई जिसको  डेंटल सर्जन अधिकारियों ने बखूबी निभाया  है.


  डॉ यादव ने बताया कि फ्रंटलाइन योद्धा के तौर पर कार्य करते हुए प्रदेश के बहुत से डेंटल सर्जन  कोरोना  से ग्रस्त हुए तथा ठीक हो कर तुरंत फ्रंटलाइन कोरोना  योद्धा के  रूप में  फिर से जुट गए. लेकिन डॉ नीतू सांघी   डेंटल सर्जन पीएचसी चांग  भिवानी में कार्यरत थी  जो वर्ष 2020 में भी कोरोना ड्यूटी करते हुए कोरोना  से ग्रस्त  हुई थी तथा ठीक हो  कर फिर से फ्रंट  लाइन यौद्धा  के तौर पर कार्य करने लगे. दोबारा ड्यूटी ज्वाइन करने के बाद  उनकी ड्यूटी फिर से कोरोना ड्यूटी लगने की वजह से डॉ  नीतू सांघी  मई 2021 मैं फिर से संक्रमित हो गए लेकिन इस बार वह ठीक नहीं हो पाई और 1 महीने के संघर्ष के बाद  उन्होंने सर्वोच्च बलिदान दिया.

*  हम हरियाणा सरकार  से  यह मांग करते हैं  डॉक्टर नीतू सांघी  के  सर्वोच्च बलिदान को देखते हुए  पीएचसी चांग भिवानी  का नाम डॉक्टर नीतू  सांघी के नाम पर रखा जाए  तथा उनके परिवार को जल्द से जल्द ₹50 लाख  तथा एक्स ग्रेशिया पॉलिसी के  सभी लाभ तुरंत दिए जाएं. 

  डॉ यादव ने  बताया कि हम हरियाणा सरकार तथा स्वास्थ्य मंत्री जी से मांग करते हैं कि डेंटल सर्जन  कि वर्षों से लंबित मांगों को जल्द से जल्द लागू किया जाए तथा बेवजह फाइलों को पेंडिंग रखने वाले अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लिया जाए. 

  डॉ यादव ने सरकार से मांग की कि डिप्टी सिविल सर्जन  डेंटल की पोस्ट पर सीनियरिटी के हिसाब से सीनियर मोस्ट  सीनियर डेंटल सर्जन  की पोस्टिंग  तुरंत प्रभाव से की जाए जिसको काफी समय से लटकाया हुआ है.

 इसके अलावा 6 पीजी इंक्रीमेंट डेंटल सर्जन को तुरंत सेवंथ पे कमीशन के हिसाब से दिया जाए,  हार्ड एरिया एलाउंस मेवात अलाउंस डेंटल सर्जन को एनएचएम से दिया जाए क्योंकि मेवात और मोरनी हिल्स में डेंटल सर्जन वहां की  पीएचसी पर सरकार के की स्कीम्स को इंप्लीमेंट करा रहे हैं.  रूरल हेल्थ अलाउंस हेल्थ अलाउंस हरियाणा में कई जगह  बेवजह रोका गया उसको तुरंत प्रभाव से  शुरू किया जाए तथा  सातवें वेतन आयोग के  हिसाब से रिवाइज किया जाए



स्पेशलिस्ट केडर में डेंटल सर्जन को इंक्लूड किया जाना चाहिए जिनके पास एमडीएमएस या अन्य पीजी डिग्री है ताकि उनकी हायर डिग्री का पूरा फायदा आम जनता को मिल सके.


 डॉ यादव ने सरकार से मांग की कि जल्द से जल्द डेंटल सर्जन की जायज मांगों को लागू किया जाए  क्योंकि  डेंटल कैडर में प्रमोशन पहले ही ना के बराबर है  ऊपर से कुछ अधिकारियों का सौतेला रवैया डेंटल कैडर  को और पीछे लेकर जा रहा है  जोकि बहुत गलत है. 

 हेल्थ डिपार्टमेंट में कार्यरत सभी डेंटल सर्जन पूरी निष्ठा के साथ कार्य करते रहे उसके लिए सरकार को भी उनकी जायज मांगों को जल्द से जल्द पूरा करना चाहिए जिनको पहले ही  माननीय स्वास्थ्य मंत्री एवं मुख्यमंत्री अप्रूव कर चुके हैं.


Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education