expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Banka News: आगजनी से रोकथाम के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का किया गया आयोजन

 ग्राम समाचार, बांका। आज दिनांक 18.03.2021 को जिला अग्नि शमन,बांका के तत्वाधान में आपदा जोखिम न्यूनीकरण एवं प्रबंधन पर जिलास्तरीय आगजनी से रोक थाम के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का शुभारंभ मुख्य अतिथि माननीय जिला पदाधिकारी महोदय एवं पुलिस अधीक्षक, बांका द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस मौके पर जिला समादेष्टा श्री त्रिलोक नाथ झा, आपदा प्रभारी श्री शालीग्राम शाह, अनुमंडल पदाधिकारी, बांका, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, बांका अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, बांका, जिला परिवहन पदाधिकारी, बांका एवं सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं सभी अंचल के अंचलाधिकारी, ग्रामीण क्षेत्र से जन प्रतिनिधिगण एवं मीडिया कर्मी भी उपस्थित थे। 



जिला पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि अग्निश्मन सेवा में  फ्रंट लाईन वर्कर है वो हमेशा तैयार एवं प्रभावी रहे ताकि कहीं भी कोई आपदा की घटना हो तो तुरंत उसपर काबू पाया जा सके। समादिष्टा को निर्देश दिया गया कि सम्पूर्ण कार्यशाला का आयोजन करे। सभी प्रख्ंाड विकास पदाधिकारी से कहा गया कि पंचायत स्तर पर योजना बनाएं साथ ही कार्यशाला का भी आयोजन करे। आपदा के समय में काम आनेवाले वोलेन्टियर की एक सूची तैयार रखे ताकि समय आने पर आपदा से निपटा जा सके एवं जान माल की कम से कम क्षति हो। 



पुलिस अधीक्षक, बांका के द्वारा बताया गया कि आग लगने पर आग को वापस नहीं किया जा सकता बल्कि इससे बचने का उपाय ही सर्वोत्तम उपाय है। गर्मी का मौसम होने के कारण पछिया हवा चलने के कारण आग लगने की संभावना बनी रहती है। इस मौसम में खाना जल्द ही तैयार कर ले खाना बनाने के पश्चात चूल्हा को पूरी तरह से बुझा दे। अभी होली का समय आने वाला है इसमें विशेष सत्र्तकता बरतने की आवश्यकता है। कार्यक्रम के अंत में जिला पदाधिकारी, बांका पुलिस अधीक्षक,बांका को प्रतिक चिन्ह भेट किया गया। जिला पदाधिकारी,बांका के द्वारा बताया गया कि गर्मियों में आग की दुर्घटना छोटी से छोटी लापरवाही से हो सकती है। विशेष शत्र्तकता बरतते हुए इस दुर्घटना को कम किया जा सकता हैः-

दिन  का खाना 9 बजे सुबह से पूर्व तथा रात का खाना शाम 6 बजे तक बना लें।

 कटनी के बाद खेत में छोड़े ठंडलों में आग नहीं लगावें।

 ळवन आदि का काम सुबह निपटा लें।

 भोजन बनाने के बाद चूल्हा की आग पूरी तरह से बुझा दें।

 रसोई घर यदि फूस का हो तो दीवाल पर मिट्टी का लेप अवश्य कर दें।

 आग बुझाने के लिए बालू अथवा मिट्टी बोरे में भरकर तथा दो बाल्टी पानी अवश्य रखें।

       आग से संबंधित किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर इस दूरभाष संख्या पर जानकारी दे सकते हैः- जिला नियंत्रण कक्ष बांका- 06412421555, पुलिस कन्ट्रोल रूम- 06412400701, अग्निश्मन 101, 0642423898, जिला आपदा प्रबंधन शाखा, बांका का मो0 नं0- 7485805899 है। 

ब्यूरो रिपोर्ट, ग्राम समाचार, बांका।

Share on Google Plus

Editor - सुनील कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें