expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: किसान मेला सह प्रदर्शनी में विभिन्न स्टॉल के माध्यम से किसानों को दी गई अहम जानकारी


ग्राम समाचार, पाकुड़। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत सदर प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित मैदान में कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग की ओर से किसान मेला -सह- कृषि प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे सूबे के ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री आलमगीर आलम, उपायुक्त कुलदीप चौधरी, पुलिस अधीक्षक मणिलाल मंडल, वन प्रमंडल पदाधिकारी रजनीश कुमार, जिला सहकारिता पदाधिकारी कुमार गौतम, समेत अन्य पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित किया। मेला में सभी अतिथियों का स्वागत जिला कृषि पदाधिकारी मुनेंद्र दास के द्वारा किया गया। साथ ही विभाग के द्वारा चलाई जा रही योजनाओं पर उन्होंने विस्तातरित पूर्वक प्रकाश डाला। वही मौके पर पहुंचे राज्य के ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री आलमगीर आलम ने उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कहां कि राज्य के किसानों को उन्नत तकनीकी की जानकारी देने को लेकर इस प्रकार का मेला का आयोजन राज्य के सभी जिलों में किया जा रहा है।मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि मेला से यहां के किसान उन्नत तकनीक से खेती करने की जानकारी प्राप्त करें। ताकि आने वाले समय में पाकुड़ जिला कृषि के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन सके। उन्होंने राज्य सरकार की उपलब्धियों की जानकारी देते हुए कहा कि कृषि क्षेत्र में उन्नति को लेकर ही राज्य सरकार ने दीदी बाड़ी योजना प्रारंभ किया है। लोग इस योजना का लाभ उठाने का प्रयास करें। इस अवसर पर मंत्री ने कृषि के क्षेत्र में सरकार द्वारा चलाये जा रहे योजनाओं के बारे में कहा की किसान का समस्या का समाधान तभी होगा जब किसान अपने खेत की उत्पादन बढ़ायेगें। किसान आवाज के रुप में अपने अधिकार को समझे और उन्नंत खेती कार्य में काम करने में जुट जाये। कोई समस्या होती है तो उसे बताये। वही मौके पर पुलिस अधिक्षक मणीलाल मंडल, वन प्रमंडल रजनीश कुमार ने भी किसानों को संबोधित करते हुए जिला में प्रशासन के द्वारा चलाई जा रही कई योजनाओं की जानकारी विस्तार से रखा। उपायुक्तक कुलदीप चौधरी ने कहा कि मेला का उद्देश्य तभी सफल होगा जब यहां पहुंचे किसान यहां से कुछ तकनीक सीख कर इसे अपनाकर उन्नत खेती की ओर अग्रेषित होंगे। और उन्होनें कहा की भारत एक कृषि प्रधान देश हैं सरकार के द्वारा कृषि ऋण माफी योजना, प्रधान मंत्री कृषि सम्मान निधि योजना, मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना अंतर्गत गौ पालन, बकरी पालन, सुकर पालन, कुक्कुट पालन एवं बत्तख पालन आदि महत्वाकांक्षी योजनाएं शामिल हैं। इसका लाभ हासिल करने के लिए आप योजना से संबंधित विशेष जानकारी कार्यालय से प्राप्त  कर सकते हैं। डीसी ने प्रधान मंत्री कृषि सम्मान निधि योजना का भी विस्तार पूर्वक जनकारी दी। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत केंद्र सरकार की तरफ से देश के छोटे और सीमांत किसानो को सालाना 6000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी । सरकार की तरफ से किसानो को दी जाने वाली 6000 रूपये की धनराशि तीन समान किश्तों में प्रदान की जा रही है। सयुक्त कृषि निदेशक संथाल प्रमण्डल दुमका से मेले में पहुचे अजय कुमार सिंह ने कहा की किसान भाई अपने खेत की मिटी जॉंच कर पोषक तत्व की भरपाई करें। उन्नपत कृषि को बढावा देने हेतु किसानों को नये नेये कृषि यंत्र की जानकारी दी। उन्हो ने  कृषिकों के समग्र विकास के लिए कृषि लागत को कम करने का भी विधि वताया। सदर प्रखंड कार्यालय परिसर में कृषि विभाग के द्वारा आयोजित किसान मेला प्रदर्शनी में जिला के विभिन्न विभागों के द्वारा स्टाल लगाकर मेला में पहुंचे किसानों को कई अहम योजनाओं की जानकारी दी गई। मेला में पशुपालन विभाग के द्वारा लगाई गई स्टॉल से पशुपालकों को पशुओं में होने वाली बीमारी से संबंधित जानकारी देने के साथ-साथ हरा चारा का उत्पादन किस प्रकार करना है। इसकी विस्तृत जानकारी दी गई आरसेटी विभाग की स्टॉल से बेरोजगारों को किस प्रकार प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोड़ा जाता है इसकी जानकारी दी गई जेएसएलपीएस के स्टॉल से विभाग की विधियों के द्वारा क्लास ब्रांडिंग के तहत किए जा रहे उत्पादन के बाबत जानकारी दी गई। मत्स्य विभाग के स्टॉल से मत्स्य पालकों को मत्स्य पालन से संबंधित जानकारी देने के साथ-साथ विभाग के द्वारा चलाई जा रही योजना का लाभ किस प्रकार उठाना है इसकी जानकारी दी गई। इसके साथ साथ विभिन्न विभागों की स्टॉल में उपस्थित किसानों को योजनाओं की जानकारी दी गई। वही स्टॉल का निरीक्षण मेला में भाग लेने पहुंचे मुख्य अतिथि राज्य के ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री आलमगीर आलम, डीसी कुलदीप चौधरी, एसपी मणिलाल मंडल, डीएफओ रजनीश कुमार के द्वारा किया गया। मंत्री आलमगीर आलम ने निरीक्षण के दौरान स्टॉल में उपस्थित कर्मियों से इंस्टॉल के संबंध में जानकारी प्राप्त करते हुए किसानों को किस प्रकार स्टाल के माध्यम से लाभान्वित किया जा रहा है इसकी जानकारी ली। उत्कृष्ट स्टॉल के विभिन्न विभाग को प्रथम द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार तीन किसानों को मिला,आठ किसानों को मोबाइल फोन देकर पुरस्कृत किया गया, बीस किसानों को स्वयं हेल्थ कार्ड भी दिया गया। 39 किसान को देसी क्लास में उत्तीर्ण हुए डिप्लोमाधारियों को प्रमाण पत्र दिया गया। दो किसानों को पंपसेट दिया गया एवं 150 किसानों को प्रदर्शन में प्रथम द्वितीय एवं संताबना पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया गया। पाकुड़ प्रखंड कार्यालय परिसर में कृषि विभाग के द्वारा लगाए गए किसान मेला में प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया।साथ भाग लिया और अपनी फसल को प्रदर्शित किया। दर्शनी में उन्नत तकनीक के द्वारा उठाए गए फसल जिसमें मकई ,चना, रहड़, मूंग, तिल, सब्जी में आलू ,बैगन, टमाटर, गोभी, फल में अमरूद पेड़ ,गाजर समेत अनेक फसलों को प्रदर्शित किया गया। वहीं प्रदर्शनी का अवलोकन अतिथियों के द्वारा किया गया और उत्कृष्ट प्रदर्शनी को पुरस्कृत भी किया गया। मंच संचालन लिट्टीपाड़ा के प्रखंड कृषि पदाधिकारी केसी दास के द्वारा किया गया।मौके पर आईटीडीए निदेशक साहिद अख्तर, पाकुड़ बीडीओ शफीक आलम, जेएसएस अशोक कुमार, आत्मा के उप निदेशक अरविंद राय समेत अन्य विभाग के अधिकारी व कर्मी मौजूद थे।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें