expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : रेवाडी जिला में चलाया जा रहा वन स्टॉप सैंटर (सखी) पिछले तीन माह से प्रथम स्थान पर : DC

रेवाड़ी, 28 जनवरी। डीसी यशेन्द्र सिंह ने कहा है कि रेवाडी जिला में चलाया जा रहा वन स्टॉप सैंटर (सखी) प्रदेशभर में पिछले तीन माह से प्रथम स्थान पर है। इस सैंटर में हर माह लगभग 45 महिलाएं अपनी शिकायत दर्ज करवाती है।



डीसी यशेन्द्र सिंह आज जिला सचिवालय में वन स्टॉप सैंटर की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने एसडीएम रेवाडी, सीटीएम व कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास की कमेटी गठित कर वन स्टॉप सैंटर के लिए जगह चिह्निïत करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वन स्टॉप सैंटर का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जाएं ताकि महिलाओं को इसकी जानकारी हो। उन्होंने बताया कि महिला एंव बाल विभाग की ओर से जिला रेवाड़ी मे ट्रामा सैन्टर के सामने जनता सर्विस स्टेशन के प्रथम तल पर वन स्टॉप  सैन्टर(सखी) चलाया जा रहा है।
उपायुक्त ने कहा कि सखी सैन्टर में घरेलू हिंसा, रेप, शारीरिक, मानसिक शोषण दहेज उत्पीडन, यौन शोषण व गुमशुदगी जैसे अनेक मामलों में पीडि़त महिलाओं को काउंसलिंग, पुलिस, कानूनी, मैडिकल सहायता तथा अस्थाई आश्रय (5 दिन) के जरिये पीडि़त महिलाओं की समस्यों का समाधान करवाया जाता है। बैठक में बताया गया कि वर्ष 2020 में वन स्टॉप  सैन्टर (सखी) में 385 शिकायते दर्ज हुई थी। जिसमें घरेलू हिंसा- 264, साईबर क्राईम-11, दहेज-8, गुमशुदा-35, रेप-2, यौन शोषण-2 व अन्य मामलों से संबन्धित- 63 शिकायतों  में पीडि़त महिलाओं/ किशोरियों ने वन स्टॉप  सैन्टर (सखी) का रूख किया तथा सैन्टर में दी जा रही सुविधाओं का लाभ उटाया। इस बैठक में नगराधीश रोहित कुमार, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी डॉ मृदुला सूद, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास संगीता यादव, वन स्टॉप सैंटर प्रशासक ललिता कालडा, डीएसडब्ल्यूओ रेनू बाला भी उपस्थित रहें।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें