expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bounsi News: आवेदन देकर स्वास्थ्य कर्मी पर लगाया गया भयादोहन का आरोप

 ग्राम समाचार, बौंसी, बांका। प्रखंड स्थित रेफरल अस्पताल में प्रसव कराने आई एक प्रसूता की मौत का मामला सामने आया है। मृतका किशनपुर गांव निवासी पिंकू मांझी की पत्नी है। इस मामले में पीड़िता के रिश्तेदार पवन कुमार ने जिला चिकित्सा पदाधिकारी को आवेदन देते हुए कहां है कि, प्रसूता का भया दोहन किया गया और जब पैसे नहीं दिए गए तो बेरहमी से पिटाई कर दी गई। जिसके कारण उसके चाची की मौत मायागंज अस्पताल ले जाने के क्रम में सोमवार को हुई है। आवेदन में उसने आरोप लगाया है कि, उसकी चाची को प्रसव के लिए रेफरल 

अस्पताल लाया गया। जहां रात में ड्यूटी पर तैनात एएनएम उषा कुमारी के द्वारा पहले तो उसे चिट्ठा काटने के नाम पर पैसे मांगे गए। विरोध करने पर धमकी दी गई। उसके बाद 4:00 बजे प्रसव हुआ। जिसमें एक बच्ची का जन्म हुआ। लेबर रूम में तैनात सरोज भारती एवं जयमाला कुमारी परिजनों से 500 मिठाई खाने के नाम पर मांगे। पैसे नहीं देने पर दोनों ने पीड़िता के साथ मारपीट किया। इसके बाद उसकी हालत खराब हो गई। ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक उत्तम कुमार के द्वारा पीड़िता को रेफर कर दिया गया। मायागंज ले जाने के क्रम में ही रास्ते में दम तोड़ दिया। आवेदन में अस्पताल के एएनएम एवं चिकित्सक के द्वारा घोर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि, अगर समुचित इलाज होता तो, उसकी जान बच सकती थी। जानकारी हो कि मृतिका को चार पुत्रियां पहले से है सुनीता 13 वर्ष, विनीता 11 वर्ष, शोभा एवं काजल 4 वर्ष की है। मां की मौत से चारों बच्चे सदमे में हैं। जबकि अभी पांचवी बच्ची नवजात है। पीड़ित पक्ष ने इस मामले में अभिलंब जांच कर दोषी पर कार्रवाई की मांग की है। वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य प्रबंधक मनोज कुमार ने बताया कि, संबंधित आवेदन प्राप्त हुआ है। मामले की जांच की जा रही है। वहीं रेफरल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सक डॉक्टर संजीव कुमार ने बताया कि, मामले की जानकारी हुई है। जांच के बाद संबंधित स्वास्थ्य कर्मियों से स्पष्टीकरण पूछा जाएगा। इस मामले ने स्वास्थ्य सेवा पर सवाल खड़ा कर दिया है। 

कुमार चंदन, ग्राम समाचार संवाददाता, बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें