expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bounsi News: उगते सूर्य को लोगों ने दिया का आस्था का अर्घ्य

 ग्राम समाचार, बौंसी, बांका।लोक आस्था का महापर्व छठ बौसी प्रखंड में शनिवार को छठ का उत्साह जगह जगह दिखाई दिया। घाटों पर पानी में खड़े व्रती हाथ में पूजन सामग्री से सजी टोकरी और सूप लिए उगते हुए सूर्य देव को निहार कर मनुहार कर रहे थे। महिलाओं ने सूर्य देव से अपने बच्चों और परिवार के लोगों को करोना संक्रमण से बचाव का आशीर्वाद मांगा। घाट के किनारे लोगों की भारी भीड़ थी। जगह-जगह पर भोजपुरी लोकगीत कांच की बांस के बहंगिया बहंगी लचकत जाए सहित अन्य लोक गीतों की गूंज गुंजायमान हो रही थी। जगमगाते दीपक, आकर्षक आतिशबाजी, बिजली के झालर आदि का नजारा मनमोहक लग रहा था। 



घाट में पानी में खड़े होकर व्रतियों ने ओम सूर्याय नमः के जयघोष के साथ उगते हुए सूरज को अर्घ्य दिया और आराधना की। इस साल करोना संक्रमण के चलते घाटों का नजारा देखने लायक था। कहीं लोग मास्क पहने थे। कहीं बिना मास्क के थे, परंतु सभी उत्साह से भरपूर थे। उत्साह पूर्वक लोग पूजा अर्चना करते नजर आए। तो वहीं प्रशासन के द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। साथ ही प्रशासन और अधिकारी गण भी     करोना गाइड लाइन के तहत लोगों को जागरूक करते नजर आ रहे थे। वहीं दूसरी ओर लोगों में सेल्फी लेने का जबरदस्त उत्साह देखा गया। जितने भी युवा वर्ग थे, सभी सेल्फी लेने में व्यस्त थे। एक दूसरे को छठ पूजा की बधाई भी दे रहे थे। छठ पूजा का यह महापर्व लोगों में उत्साह भरने का काम किया है। इस छठ पूजा के उत्साह ने करोना काल को ही भुला दिया। प्रखंड के कई घाट पाप हरणी तालाब, सुखनियां घाट, अगरा छठ घाट सहित कई ऐसे घाटों पर यही नजारा देखने को मिला। व्रतियों के द्वारा उगते हुए सूरज को अर्घ देकर व्रत का समापन किया गया है।

कुमार चंदन,ग्राम समाचार संवाददाता, बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - सुनील कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें