expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Chhattisgarh News: गांधी जयंती के अवसर पर आदिवासी समाज ने किया सत्याग्रह


ग्राम समाचार,अम्बिकापुर( छत्तीसगढ़)। अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ के प्रांतीय निकाय के आह्वान पर, सरगुजा जिले में भी 2 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर महात्मा गांधी चैक पर सत्याग्रह का आयोजन किया गया । 

सर्वप्रथम गांधी जी के प्रतिमा पर माल्यार्पण के  पष्चात दीप प्रज्जवलन किया गया। इसके पष्चात् गांधी जी के जीवन दर्शन और विचार पर चिंतन मनन किया गया। देश की बेटी और हाथरस की मनीषा के साथ हुऐ दुष्कर्म उपरांत किये गये नृषंस हत्या की घोर निंदा की गई, और अपराधियों को कठोरतम दण्ड दिये जाने की मांग एक स्वर से की गई।  साथ ही देश के किसान संगठनों से बिना बातचीत के, कोरोना काल में पारित किये गये किसान विरोधी बिल की निंदा की गई।छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में गंगरेल बांध के समीप गोंड आदिवासी समाज की आराध्य आदिशक्ति अंगारमोती देवधामी का गलत तरीके से जारी किये गये पट्टा को निरस्त करते हुऐ आदिवासी गोंड समाज विकास समिति एवं आदिशक्ति माॅं अंगारमोती ट्रस्ट गंगरेल को पट्टा जारी करने की मांग की गई।  इसके साथ ही केेन्द्र सरकार द्वारा देश में स्थापित राष्ट्र की संपत्ति, शासकीय प्रतिष्ठानों को धड़ल्ले से बड़े बड़े नीति उद्योगपतियों को देने का विरोध प्रदर्शन भी सत्याग्रह के माध्यम से किया गया।  उक्त सत्याग्रह में सुप्रीम कोर्ट एवं हाईकोर्ट में न्यायधीशो की नियुक्ति हेतु काॅलेजियम सिस्टम को समाप्त करते हऐ यूपीएससी पैटर्न पर न्यायधीशो की नियुक्ति की जाने की मांग की, जिससे अजा, अजजा और अपिवर्ग को पर्याप्त प्रतिनिधित्व प्राप्त हो सके।  राज्य सरकार द्वारा पदोन्नति में आरक्षण के संबंध में माननीय उच्च न्यायालय के निर्णय की गलत व्याख्या करते हुये विधिविरूद्ध तरीके से पदोन्नति की कार्यवाही की जा रही है, जिसमें आरक्षण नियमों की अनदेखी हो रही है, इसके साथ ही उत्कृष्ठ अंग्रेजी माध्यम विद्यालयो के पदो में जिला स्तर पर भर्ती ना करते हुए एकल विद्यालयीन मानकर सभी पदों को एकल करते हुए अनारक्षित श्रेणी से भरा जा रहा है, जिससे क्षेत्र के बहुसंख्यक आरक्षित वर्ग के बेरोजगारों के साथ अन्याय हो रहा है, इस संबंध में भी विरोध प्रदर्शन सत्याग्रह के माध्यम से किया गया।  

प्रदेश में हजारों की संख्या में फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले उजागर हो चुके हैं, लेकिन सुस्त प्रशासनिक कार्यप्रणाली के कारण फर्जी जाति प्रमाण पत्र धारी व्यक्ति और उसे जारी करने वाले संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं हो पा रही है, उच्च न्यायालयों में लंबित ऐसे अनावशयक स्थगन के मामलों में पूर्व की तरह वरिष्ठ अधिवक्ताओं की समिति महाधिवक्ता से गठित करवाये जाने की मांग की गई। सभी विभागों में नियुक्ति, पदोन्नति से भरे जाने वाले रिक्त पद, बैकलाॅग पदों रोस्टर की जाॅंच तत्काल गठित स्थायी समिति से करने की मांग उक्त सत्याग्रह में रखी गई।  इसके अतिरिक्त अजा, अजजा वर्ग के अधिकारियों कर्मचारियों के लंबित शिकायत, विभागीय जाॅंच निलंबन, स्थानान्तरण, पदोन्नति के प्रकरणों का शीघ्र निवारण करने के लिये प्रशासनिक अधिकरण ट्रिब्यूनल की स्थापना तथा जब तक स्थापना नहीं होती तब तक वरिष्ठ सचिवों की एक कमेटी गठित किये जाने की मांग की गई। गांधी जयंती के अवसर पर आदिवासी समाज द्वारा आयोजित उक्त सत्याग्रह में रखे गये सभी विषयों पर कलेक्टर जिला सरगुजा के माध्यम से देश के महामहिम राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, अजजा आयोग सहित विभिन्न प्राधिकारियों को ज्ञापन सौंपा गया 

सत्याग्रह कार्यक्रम में विशेष रूप से सर्व आदिवासी समाज के अध्यक्ष डाॅ.अमृत सिंह मराबी, सर्व आदिवासी समाज युवा प्रभाग के अध्यक्ष अभिषेक कुमार पावले, जनपद सदस्य राजीव पैकरा, शासकीय सेवक संघ के अध्यक्ष संदीप कुमार पैकरा, कोषाध्यक्ष ए. कुजूर, डिकेष आयाम, प्रकाष पोर्ते, निलांबर टेकाम, अजय टेकाम, सारद नागेष, सागर टेकाम, विदुर टेकाम, लवकेष गोंड, राजकुमार जगत, बजरंग पैकरा, बलधीर टोप्पो, रामकिषुन पोर्ते, रविन्द्र पोर्ते, सुरजन एक्का सहित बड़ी संख्या में समाज के अधिकारी कर्मचारी, विद्यार्थी व सगाजन उपस्थित रहे । 

               -अभिषेक पावले,ग्राम समाचार,अम्बिकापुर(छत्तीसगढ़)।

Share on Google Plus

Editor - विलियम मरांड़ी।

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें