expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : डीआईजी कुलविंद्र सिंह ने कोरोना की रोकथाम के उपायों की समीक्षा की

रेवाड़ी, 9 सितंबर।  जिला में कोविड की रोकथाम के लिए किए जा रहे उपायों की निगरानी के लिए प्रदेश सरकार द्वारा नियुक्त प्रभारी अधिकारी डीआईजी कुलविंद्र सिंह ने जिले के एसडीएम व डीएसपी को निर्देश दिए कि रेवाड़ी जिले में स्थापित ओद्यौगिक ईकाइयों का टीम बनाकर सप्ताह में एक दिन औचक निरीक्षण करें तथा वहां पर कोविड-19 की रोकथाम के लिए किए जा रहे उपायों की जांच करें।

  डीआईजी कुलविंद्र सिंह बुधवार को लोकनिर्माण विश्राम गृह रेवाड़ी में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के उपायों की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। कुलविन्द्र सिंह ने महाप्रबंधक हरियाणा राज्य परिवहन को निर्देश दिए कि बिना मास्क के सवारियों को बसों में न बिठाएं, यदि दो-चार संवारियों के पास मास्क न हो तो उन्हें मास्क देकर अवश्यक बैठा लें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कहा कि जो कोरोना पॉजिटिव नागरिक होम आईसोलेशन में है उनकी मॉनिटिरिंग निरंतर जारी रखें। उन्होंने कहा कि यदि पॉजिटिव नागरिक के घर पर अलग से रहने की सुविधा नहीं है तो उसे डेडिकेटिड कोविड केयर सैंटर में शिफ्ट किया जाएं। डीआईजी ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को निरंतर जागरूक करें। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टसिंग का ध्यान रखते हुए दो गज की दूरी बनाए रखें तथा मास्क का प्रयोग करें।
डीसी यशेन्द्र सिंह ने बैठक में बताया कि रेवाड़ी जिले में 22 ढ़ाबा है जिनके कर्मचारियों की सैंपलिंग कराई जा रही है, जिसके लिए विभिन्न विभागों के 11 अतिरिक्त कर्मचारियों को स्वास्थ्य विभाग के साथ लगाया गया है ताकि सैंपलिंग में कोई परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी में स्वास्थ्य मंत्री द्वारा आणविक प्रयोगशाला का शुभारंभ कर दिया गया है तथा इस लैब की क्षमता पांच सौ टैस्ट करने की है लेकिन फिलहाल 200 से 250 टैस्टिंग हो रही है जिसे प्रतिदिन बढ़ाया जा रहा है। डीसी ने बताया कि जिला में अभी तक 1200 तक सैंपल प्रतिदिन लिए जा रहे है, लेकिन हम इसे ओर बढ़ाकर 1500 तक करने की तैयारी कर रहे है। उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 के लिए ऐप तैयार की जा रही है, जिसके माध्यम से जिला के तुरंत आंकड़े, लोगों को मिल सकेंगे तथा आस-पास के कोरोना पॉजिटिव केसों की जानकारी मिल सकेगी। उन्होंने बताया कि इस ऐप में आवश्यक सामग्री के लिए सभी सप्लायर्स की डिटेल भी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस ऐप में योगा व होम आईसोलेशन के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। डीसी ने बताया कि इस ऐप में सभी विवरण दो भाषाओं में हिन्दी व अग्रेजी में उपलब्ध होगा।
बैठक में सीएमओ डॉ सुशील माही ने बताया कि इस समय जिला रिकवरी रेट 84 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि जिले में 22 स्थानों पर सैंपल लिए जा रहे है जिनमें नागरिक अस्पताल, एसडीएच, सीएचसी व पीएचसी शामिल है। उन्होंने बताया कि सैपलिंग के कार्य में 32 टीमें लगाई है। उन्होंने बताया कि सैंपलिंग के कार्य के लिए 6 मोबाईल यूनिट भी कार्य कर रही है। सीएमओ ने बताया कि जिला में रेवाड़ी अर्बन व धारूहेड़ा दो हॉटस्पोट क्षेत्र है जिनमें सबसे अधिक केस है। उन्होंने बताया कि रेवाड़ी हॉटस्पोट क्षेत्र में कुतुबपुर में 20, टीपी स्कीम-24, शांति नगर-25, सरस्वती विहार-32, सैक्टर-3 में 50 तथा धारूहेड़ा हॉटस्पोट क्षेत्र में नंदरामपुर बास रोड़ व पीएचसी धारूहेड़ा में 13-13, नारायण विहार-16 व धारूहेड़ा व कर्ण कुंज में 23-23 केस हॉट स्पोट क्षेत्र में है।
समीक्षा बैठक में एसपी अभिषेक जोरवाल, एडीसी राहुल हुड्ड, एसडीएम कोसली कुशल कटारिया, एसडीएम रेवाड़ी रविंद्र यादव, एसडीएम बावल मनोज कुमार, डीआरओ विजय यादव, जिला शिक्षा अधिकारी राजेश कुमार, जीएम रोडवेज नवीन शर्मा, नपा सचिव समयपाल, डॉ दीपक सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें