expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: सहियाओं ने घर-घर जाकर बच्चों को खिलाया एल्बेंडाजोल


ग्राम समाचार, पाकुड़। बच्चों के पोषण स्तर को बेहतर बनाने के लिये बुधवार को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति पखवारा के दूसरे दिन जिले के सभी प्रखंडों पाकुड़, हिरणपुर, लिट्टीपाड़ा, अमड़ापाड़ा,पाकुड़िया एवं महेशपुर  में सहियाओं द्वारा घर – घर जाकर एक से 19 साल तक के बच्चों को कृमिनाशक दवा एल्बेंडाजोल खिलाई गई कोरोना के मद्देनजर काफी एतिहात के साथ इस बार दवा खिलाया जा रहा है इस बार समुदाय स्तर पर घर – घर जाकर बच्चों को एल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जा रही है आगामी तीस सितंबर तक यह अभियान जारी रहेगा एक साल से 19 साल तक के बच्चों को पेट के कीड़े की दवा जरूर खानी चाहिए अधिकांश बच्चों में पेट से संबंधित अधिक बीमारियों का खतरा होता है जिस वजह से बच्चों में खून की कमी कुपोषण मितली उल्टी व दस्त होना तथा वजन में कमी होना जैसे दुष्प्रभाव होते है क्योंकि ज्यादातर बच्चे बाहर खेलते समय कब किस चीज को हाथ लगाते हैं  उनको पता ही नहीं होता है। उन्हीं गंदे हाथों से घर की सारी चीजों को छूना बिना हाथ पैर धोकर कुछ भी खा लेना  बिना ढ़का हुआ पानी पीना इन्हीं सब लापरवाही की वजह से बच्चों के पेट में बीमारियों होती हैं  जो कभी - कभी घातक भी साबित हो सकता है  इसी को ध्यान में रखते हुए 1 साल से 19 साल तक के बच्चों को एल्बेंडाजोल की दवा खिलाई जाती है जिससे बच्चों में होने पर इन सब समस्याओं से बचाया जा सके। एल्बेंडाजोल की खुराक 1 से 2 वर्ष की आयु के बच्चों को आधी गोली तथा 3 से 19 वर्ष की आयु के बच्चे को एक पूरी गोली दी जायेगी  आम लोगों से अपील किया कि वह एक वर्ष से 19 वर्ष तक के बच्चों को एल्बेंडाजोल की दवा खिलाकर कार्यक्रम को सफल बनाए। घर – घर जाने वाली सहिया टीम का सहयोग करें।उल्लेखनीय हो कि पिछले दिनों जिला टास्क फोर्स राष्ट्रीय कृमि मुक्ति की आहूत बैठक में उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने सिविल सर्जन व अन्य चिकित्सा पदाधिकारियों को कोविड – 19 को लेकर दिए गे दिशा निर्देशों का अनुपालन करते हुए अभियान को सफल बनाने का निर्देश दिया था लक्ष्य के अनुरूप सभी बच्चों को निर्धारित मात्रा में दवा का सेवन कराना सुनिश्चित करने को कहा था।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें