expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Dumka News : विधवा महिला के आवास के लिए आगे आये सांसद सुनील सोरेन

 

विधवा सदनी हेम्ब्रम

ग्राम समाचार, दुमका। सांसद सुनील सोरेन ने जिले के उपायुक्त राजेश्वरी बी को ट्वीट कर आदिबासी बिधवा सदनी हेम्ब्रम को पीएम आबास उपलब्ध कराने की आग्रह किया है ।सदर प्रखंड दुमका के रानिबहाल पंचायत में पीएम आबाज योजना के तहत निर्गत लाभुक सूची के लाभुकों से आवेदन लिया जा रहा हैं । दरबारपुर पंचायत के स्वयंसेवक इस्राएल मुर्मू यहां पंचायत के अतिरिक्त प्रभार में हैं, इस्राइल ने गांव में घूम कर आबेदन संग्रह कर रहा हैं ।बताया हैं कि 15 सितंबर तक आबेदन लिया जायेगा । मौजा मुड़जोड़ा के टोला सरकारी बांझ के बिधबा सदनी हेम्ब्रम ने आवेदन देने पर स्वयंसेवक ने बताया हैं कि परिबार सूची ब्लॉक कर दिया हैं, जिसके कारण आवेदन जमा नहीं होगा ।यानि इस बार भी सदनी आबास पाने बंचित रह जायेगी ।सदनी के पति गिरीश सोरेन का 2012 में देहांत हो गया हैं ।निधन के आठ साल बाद निर्गत लाभुक सूची में मृतक गिरीश का नाम हैं।उस सूची में परिबार आई डी संख्या,- 3143278 दर्ज हैं। 

विधवा सदनी हेम्ब्रम का जीर्ण शीर्ण फूंस की झौपड़ी

उस परिबार सूची को किसी ने ब्लॉक कर दिया है । किसी कर्मचारी के लापरबाही का खामियाजा भोग रही हैं, अत्यंत निर्धारण सदनी, वह चार साल से पंचायत का चक्कर काट रही है । बीते दिन समाचार पत्र में प्रकाशित समाचार को संज्ञान में लेकर सांसद सुनील सोरेन ने जिले के उपायुक्त को ट्विट कर सदनी को आबास उपलब्ध कराने का आग्रह किया हैं। पर किसी भी स्तर से उसके परिबार सूची में सुधार कर आबास उपलब्ध कराने की पहल नही किया हैं ।  गिरीश के परिबार सूची में रानिबहाल गांव के गैर आदिबासी पाल परिबार के लोगो का नाम जोड़ा था । मीडिया में समाचार आने पर किसी कर्मचारी ने उस आई डी को ब्लॉक कर दिया है ,जो उच्च स्तरीय जांच का मामला बनता हैं ।प्रखंड विकास पदाधिकारी राजेश सिन्हा ने मुखिया के पति दमनिक को बताया हैं कि परिबार सूची में मृतक गिरीश के पत्नी एबं पुत्रो का नाम दर्ज जिला स्तर से हो सकता हैं।जो भी हो यहां के कर्मचारी के मनमानी के शिकार सदनी आबास पाने बंचित है।

गौतम चटर्जी, ग्राम समाचार,रानीश्वर(दुमका)

Share on Google Plus

Editor - केसरीनाथ यादव, दुमका

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें