expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

भुविस्थापितो की समस्या को लेकर एक दिवसिय धरना व बिरोध प्रदर्शन

  

ग्राम समाचार महागामा (गोड्डा)। मंगलवार को हिजुकिता भुवी को संघर्ष समिति द्वरा राजमहल परियोजना कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन किया गया। ततपश्चात 11  सूत्री मांग पत्र परियोजना प्रबंधन को सौपा।


मौके पर हिजूकीता निवासी राजेश महतो ने बताया कि दश वर्ष पूर्व हिजूकीता गांव को बलिया कुमीकित्ता गांव के बगल में विस्थापित करने की मंजूरी परियोजना प्रबंधन की ओर से की गई थी। इसके लिए प्रकाशपत्ता हेडक्वाटर से आवंटन भी आया। कुछ गांव वाले ने अपना प्लॉट भी लकेर आवास बनाने का काम भी शुरू किया। लेकिन मुख्य सड़क नहीं मिलने के कारण गांव वासी विद नहीं हो पाया। 


उन्होंने परियोजना को प्रभावित करते हुए आवंटन का बन्दरगाह करने का आरोप लगाया।


वहीं ग्रामीणों का कहना है कि परियोजना के द्वारा हिजुकिता गांव के तीन तरफ परियोजना से निकले मिट्टी का अंबर खड़ा कर देने से गांव वासी का जीना मुहाल हो गया है। 

बताया कि बरसात के दिनों में गांव के वाहर का मिट्टी स्लाइड हो कर घर में घुस रहा है। उसी तरह गर्मी के दिनों में धूल से गांव वासी परेशान रहता है जिसके कारण गांव के ग्रामीण कई असाध्य बीमारी के शिकार हो रहे हैं।

बताया कि गांव वासियों ने प्रबंधन के समक्ष कई वार गांव को अन्य जगह विस्थापित करने की मांग कर दी है। लेकिन अबतक हिजुकिता गांव को विस्थापित नहीं किया जा रहा है।


बताया गया है कि अनुपालन प्रति प्रदर्शन करना पड़ रहा है। प्रदर्शन के बादवेन सूत्री मांग प्रबन्धन को सौप गांव को जल्द से जल्द विस्थापन करने की मांग की। 


प्रदर्शन में यू सी यू की ओर से रामस्वरूप, रामजी साह, राम सुंदर महतो, विनोद कुमार महतो, खगेन्द्र महतो, राजेन्द्र, महेंद्र, बीरबल, दीपनारायण, राधा प्रसाद सिंह नारायण उपस्थित थे।

                                                               - ग्राम समाचार महागामा (गोड्डा)।

Share on Google Plus

Editor - Editor

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें