expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

कोरोना से जंग में आगे आई फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस, जरूरतमंदों के बीच बांटे मास्क और सैनिटाइजर

ग्राम समाचार, भागलपुर। फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड ने फैमिली प्लानिंग एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया, अर्ज फाउंडेशन और डॉक्टर फॉर यू संस्था के साथ मिलकर बिहार के पटना जिला समेत 31 जिलों गोपालगंज, चंपारण, सिवान, बेगुसराई, खगड़िया, लखीसराय, भागलपुर, मुंगेर, बाँका, पूर्णिया, कटिहार, अररिया, सुपौल, मुज़फ़्फ़रपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, भोजपुर, वैशाली, नालंदा, नवादा, गया, औरंगाबाद, रोहतास, कैमूर, दरभंगा, मधुबनी, सहरसा, मधेपुरा में क़रीब 204125 ग्रामीण लोगो के बीच मास्क, साबुन, सैनिटाइजर और सेनेटरी नैपकिन घर-घर जा कर वितरित किये। वितरण के समय सोशल डिस्टन्सिंग को पूरा ध्यान रखा गया। कंपनी ने पूर्वी, पश्चिमी, उत्तरी व् दक्षिणी भारत के अन्य 14 राज्यों के 193 ज़िलों में  3450 से ज्यादा गांवों में 104155 मास्क और 14400 हाइजीन किट वितरित किये।  इस कार्यक्रम से 282000 से ज्यादा लोगों को लाभ और संक्रमण संबंधित जानकारी से जागरूक भी किया गया। इस सामाजिक कार्य को 7 गैर सरकारी संस्था के माध्यम से, 213 जरूरतमंद लोग जैसे की विकलांग वर्ग, महिलायें, आशा कार्यकर्ता, आदिवासी समुदाय के विभिन्न लोगो को आजीविका प्रदान की गयी। मास्क बनाने का कार्य ग्रामीण महिलाओं के द्वारा पूर्ण किया गया। फ्यूज़न ने अपनी जिम्मेदारियों को केवल वित्तीय लेनदेन तक सीमित नही रखा है बल्कि यह अन्य सामाजिक गतिविधियों में भी कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सी.एस.आर) कार्यों के द्वारा अपना निरंतर योगदान देती आ  रही है। फ्यूज़न माइक्रोफाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया से पंजीकृत एक गैर बैंकिंग वित्तीय संस्था है। फ्यूज़न समाज के आर्थिक और सामाजिक रूप से वंचित वर्ग तथा दूर दराज के गांवों व् कस्बों में रहने वाले आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग के महिला उधमियों को ऋण प्रदान करती है।

Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें