expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

स्वतंत्रता दिवस: दुनिया करेगी भारत की जय-जयकार, ये हैं पीएम मोदी के 10 सबसे बड़े ऐलान

 

ग्राम समाचार  , नई दिल्ली।  पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आजादी की 74वीं सालगिरह पर लाल किले की प्राचीर से अपने मैराथन और जबरदस्त भाषण में कई पहलुओं को छुआ। चीन (China) पर दहाड़े और उसको मुंहतोड़ जवाब दिया, कोरोना (Corona) वैक्सीन को लेकर भी बोले और देश को आत्मनिर्भर कैसे बनाना है, उसका रोडमैप भी पेश किया। सेना के शौर्य से लेकर मध्यम वर्ग, महिलाओं और देश के किसानों को भी उन्होंने अपने भाषण में अहमियत दी। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं वो 10 बड़े ऐलान जो पीएम मोदी का विजन दर्शाते हैं, आत्मनिर्भर भारत की दिशा में उनके संकल्प को पूरा करने की दृढ़ता को भी बताते हैं। 

1. आत्मनिर्भर भारत 

पीएम मोदी के भाषण में आत्म निर्भर भारत का सबसे ज्यादा जिक्र देखने को मिला। पीएम मोदी ने कहा कि आत्म निर्भर भारत अब एक मंत्र बन चुका है। उन्होंने कहा कि 'आखिर कब तक हमारे ही देश से गया कच्चा माल, फिनिश्ड प्रोडक्ट बनकर भारत में लौटता रहेगा। पीएम ने कहा कि कोरोना संकट काल ने हमें आत्मनिर्भर बनने का बहुत बड़ा मौका दिया है। पहले हम N95, वेंटिलेटर नहीं बनाते थे अब हम इनका उत्पादन बड़ी मात्रा में कर रहे हैं। भारत अब रक्षा उत्पादन में भी आत्मनिर्भरता के लिए भी पूरी क्षमता से जुट गया है। 100 हथियारों के आयात पर भारत ने रोक लगा दी है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर बनना भारत की सबसे बड़ी जरूरत है।  आज भारत की मानसिकता होनी चाहिए वोकल फॉर लोकल, हम अपनी चीजों का गौरवगान नहीं करेंगे तो उसको अच्छा बनने का मौका नहीं मिलेगा। 

2. चीन को करारा जवाब 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'आज पड़ोसी सिर्फ वो ही नहीं हैं, जिनसे हमारी भौगोलिक सीमाएं मिलती हैं बल्कि वे भी हैं जिनसे हमारे दिल मिलते हैं। जहां रिश्तों में समरसता होती है, मेल-जोल रहता है। इनसे से कई देशों में बहुत बड़ी संख्या में भारतीय काम करते हैं। जिस प्रकार इन देशों ने कोरोना संकट के समय भारतीयों की मदद की, भारत सरकार के अनुरोध का सम्मान किया, उसके लिए भारत उनका आभारी है।' उन्होंने इशारों इशारों में ही चीन को भी दो टूक जवाब दिया और कहा कि 'LoC से लेकर LAC तक, देश की संप्रभुता पर जिस किसी ने आंख उठाई है, देश ने, देश की सेना ने उसका उसी भाषा में जवाब दिया है। भारत की संप्रभुता का सम्मान हमारे लिए सर्वोच्च है। इस संकल्प के लिए हमारे वीर जवान क्या कर सकते हैं, देश क्या कर सकता है, ये लद्दाख में दुनिया ने देख लिया है।'

3. कोरोना की वैक्सीन जल्द 

प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर से देश और दुनिया में चल रहे सबसे बड़े सवाल का भी जवाब दिया। उन्होंने कोरोना वैक्सीन को लेकर बताया कि 'आज भारत में कोराना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं। जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश में उन वैक्सीन का बड़े पैमाने पर उत्पादन शुरू किया जाएगा। इसके लिए हमारी तैयारी पूरी है। उन्होंने बताया कि जब कोरोना संकट शुरू हुआ था तब हमारे देश में कोरोना टेस्टिंग के लिए सिर्फ एक लैब थी। आज देश में 1,400 से ज्यादा लैब्स हैं। 

4. 'हेल्थ कार्ड' मिशन 

पीएम मोदी हेल्थ सेक्टर के लिए एक बहुत बड़ी योजना 'नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन' का भी ऐलान किया। पीएम मोदी ने कहा कि 'आज से देश में एक और बहुत बड़ा अभियान शुरू होने जा रहा है, ये है नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन। नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, भारत के हेल्थ सेक्टर में नई क्रांति लेकर आएगा।' इस मिशन के तहत हर भारतीय को एक हेल्थ आईडी दी जाएगी। जिसमें उसके स्वास्थ्य से जुड़ी हर जानकारी होगी। मतलब उसे डॉक्टर या अस्पताल जाते समय हर बार टेस्ट रिपोर्ट लेकर जाने की जरूरत नहीं होगी। यूनीक आईडी के जरिए डॉक्टर उस व्यक्ति की सारी जानकारी देख सकेगा।

5. जम्मू कश्मीर में चुनाव जल्द

पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर को लेकर भी बड़ा ऐलान किया। उन्होंने कहा कि 'हमारे देश में अलग-अलग जगहों पर विकास की तस्वीर अलग-अलग दिखती है। कुछ क्षेत्र बहुत आगे हैं। एक साल-जम्मू कश्मीर की एक नई विकास यात्रा का साल है। ये एक साल जम्मू कश्मीर में महिलाओं, दलितों को मिले अधिकारों का साल है। ये जम्मू कश्मीर में शरणार्थियों के गरिमापूर्ण जीवन का भी एक साल है।' उन्होंने कहा कि 'जम्मू-कश्मीर में डिलिमिटेशन का काम चल रहा है। हम सभी चाहते हैं कि जल्दी से यह प्रक्रिया पूरी हो, जिसके बाद जल्दी से चुनाव हों, विधायक और मंत्री भी जम्मू-कश्मीर क्षेत्र से चुनकर आएं।'


6. गांव-गांव तक बिछेगा ऑप्टिकल फाइबर 

पीएम मोदी ने देश के हर गांव में इंटरनेट पहुंचाने का ऐलान भी किया। उन्होंने कहा कि 'साल 2014 से पहले देश की सिर्फ 5 दर्जन पंचायतें ऑप्टिल फाइबर से जुड़ी थीं। बीते पांच साल में देश में डेढ़ लाख ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया है। आने वाले एक हजार दिन में इस लक्ष्य को पूरा किया जाएगा। देश के हर गांव यानी 6 लाख गांवों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा। हालांकि उन्होंने साइबर सिक्योरिटी को लेकर बढ़ते खतरों का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ' हम नई साइबर सुरक्षा नीति लेकर आने वाले हैं। 

भारत इस संदर्भ में सचेत है, सतर्क है और इन खतरों का सामना करने के लिए फैसले ले रहा है और नई-नई व्यवस्थाएं भी लगातार विकसित कर रहा है। देश में नई राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति का मसौदा तैयार कर लिया गया है।'

7. इंफ्रास्ट्रक्चर में आएगी नई क्रांति

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, 'भारत को आधुनिकता की तरफ, तेज गति से ले जाने के लिए, देश के ओवरऑल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेपमेंट को एक नई दिशा देने की जरूरत है। ये जरूरत पूरी होगी 'नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन प्रोजेक्ट' से। इस प्रोजेक्ट पर देश 100 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। अलग-अलग सेक्टर्स के लगभग 7 हजार प्रोजेक्ट्स की पहचान भी की जा चुकी है। ये एक तरह से इंफ्रास्ट्रक्चर में एक नई क्रांति की तरह होगा। अब इंफ्रास्ट्रक्चर में साइलोस को खत्म करने का युग आ गया है। इसके लिए पूरे देश को मल्टी-मॉडल कनेक्टिविटी इंफ्रास्ट्रक्चर से जोड़ने की एक बहुत बड़ी योजना तैयार की गई है।'

8.  मेक इन इंडिया के बाद अब 'मेक फॉर वर्ल्ड' 

लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज दुनिया की बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत का रुख कर रही हैं। भारत की अर्थव्यवस्था पर दुनिया का भरोसा बढ़ा है। दुनिया इस शक्ति को, इन रिफॉर्म्स और उससे निकले परिणामों को देख रही है। बीते वर्ष, भारत में एफडीआई ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। भारत में एफडीआई में में 18 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। ये विश्वास ऐसे ही नहीं आता है। वन नेशन-वन टैक्स, इनसाल्वेंसी और बैंकरप्सी कोड, बैंकों का मर्जर आज देश की सच्चाई है।

9. आत्मनिर्भर कृषि और आत्मनिर्भर किसान

अपने पूरे भाषण के दौरान पीएम मोदी का जोर आत्म निर्भर भारत पर रहा। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में हम पहले बाहर से गेहूं मंगाकर पेट भरते थे, आज हमारे देश के किसान भारत के लोगों का ही पेट नहीं भरते बल्कि दुनिया में लोगों का पेट भर रहे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत की एक महत्त्वपूर्ण प्राथमिकता आत्मनिर्भर कृषि और आत्मनिर्भर किसान है। देश के किसानों को आधुनिक बुनियादी ढांचा देने के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का आधुनिक कृषि बुनियादी ढांचा कोष बनाया गया है।

10. NCC कैडेट्स की विशेष ट्रेनिंग 

पीएम मोदी ने कहा कि अब एनसीसी का विस्तार देश के 173 बॉर्डर और तटवर्ती जिलों तक तक सुनिश्चित किया जाएगा। इस अभियान के तहत करीब 1 लाख नए NCC कैडेट्स को विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें भी करीब एक तिहाई बेटियों को ये स्पेशल ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें कोस्टल एरिया के कैडेट्स को नेवी प्रशिक्षित करेगी और हवाई क्षेत्र के कैडेट्स को एयरफोर्स ट्रेनिंग देगी।


Share on Google Plus

Editor - Editor

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें