expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News:समस्या निवारण समिति की वर्चुअल सभा, सदस्यों ने ऑनलाइन परीक्षा के प्रति जतायी नाराजगी

ग्राम समाचार, भागलपुर। समस्या निवारण समिति भागलपुर की एक सभा शनिवार को अध्यक्ष अशोज जीवराजका की अध्यक्षता में जूम के माध्यम से की गई। इस सभा में माउंट कार्मेल स्कूल द्वारा सोमवार को ऑनलाइन परीक्षा लेने के नाम पर अभिभावक को जो प्रताड़ित किया जा रहा है उस विषय पर चर्चा हुई। मीडिया प्रभारी सुनील अग्रवाल ने कहा कि स्कूल प्रबंधक अपनी बेवजह हरकतों से बाज आएं ऑनलाइन परीक्षा लेने का कोई औचित्य ही नहीं होता है। क्योंकि जब ऑनलाइन पढ़ाई ही नहीं हुई तो ऑनलाइन परीक्षा का क्या मतलब है। क्या स्कूल प्रबंधन ने इसके लिए सरकार से आदेश लिया है। दरअसल स्कूल प्रबंधन अभिभावकों को महज प्रताड़ित करना चाहता है ताकि उसकी दुकानदारी चलती रहे। जब तक स्कूल बंद है कोई भी अभिभावक फीस जमा ना कराएं। उपाध्यक्ष प्रीति पांडे ने कहा कि सही बात है जब पढ़ाई हुई ही नहीं तो एग्जाम लेने का क्या मतलब है। समझ नहीं आता क्योंकि अभी की हालत में लोग आर्थिक ही नहीं मानसिक रूप से भी बहुत परेशान है। बहुत घरों में तो शारीरिक रूप से जिनके घर में लोग बीमार हैं या कोरोना से प्रभावित हैं ऐसे हाल में ऑनलाइन की पढ़ाई जिसमें कि नेटवर्क की प्रॉब्लम हमेशा बनी रहती है बच्चे कितना समझेंगे और कितना एग्जाम में लिख पाएंगे यह कहना मुश्किल है। अभी की हालत में अगर अच्छे बच्चे का रिजल्ट भी खराब आता है तो उसका आत्मविश्वास में जो कमी आएगी इसका जिम्मेदार कौन? संयोजक गोपाल चौबे ने कहा कि जिन जिन स्कूलों द्वारा ऑनलाइन एग्जाम लिया जा रहा है वह अभिभावक उस स्कूल के प्रधानाचार्य से बात करें कि जब ऑनलाइन स्टडी हुई नहीं नहीं है तो एग्जाम किस चीज का लेंगे आप? उपाध्यक्ष संजय कुमार जैन ने कहा कि हम भारत देश के वासी है न कि किसी राज्य के वासी हैं। भारत का संविधान पूरे देश मे लागू होता है।क्षफिर अलग अलग राज्य के नियम अलग अलग क्यो? देश के कुछ हिस्सों में स्कूल फीस नही ली जा रही है तो कुछ हिस्सों में अभिभावक पर दबाब बनाया जा रहा है। इस ओर हमे प्रधामंत्री का ध्यान आकर्षित कराना चाहिए। बैठक के दौरान अरुण कश्यप एवं शंकर लाल जैन ने फोन कर इस कार्य हेतु समिति को सराहा और कहा कि वाकई यह जन समुदाय के साथ अत्याचार है ऐसे में स्कूलों के ऊपर रोक लगनी चाहिए। सभा में विवेक कश्यप, अशोक बंसल, आशीष सर्राफ, लालू डोकानिया, दीपक सुल्तानिया, संजय कुमार जैन, जॉनी संथालिया, सुनील अग्रवाल, मनीष मिश्रा, अमित सलारपुरिया और शरद सालारपुरिया ने भी स्कूलों द्वारा लिए जा रहे ऑनलाइन एग्जाम का विरोध किया गया। अंत में महासचिव रवि प्रकाश बुधिया ने सभी को आश्वासन दिया कि इन बातों को स्कूल प्रबंधकों तक पहुंचाने के लिए मीडिया, व्हाट्सएप, ट्विटर और फेसबुक पर दिया जाएगा ताकि उन तक यह सूचना पहुंच सके।

Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें