expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News:जनप्रतिनिधियों की लापरवाही स्वास्थ्य व्यवस्था पर पड़ी भारी – डॉ प्रशांत विक्रम

ग्राम समाचार, भागलपुर। कोरोना संक्रमण के इस विषम परिस्थिति में बदहाल स्वस्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। रोजाना लोग बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की पीड़ा झेल रहे हैं। शहर में कुछ ऐसे बुद्धिजीवी भी हैं जिन्होंने कोरोना काल के शुरुआत में ही इसपर सवाल खड़े किए थे। इस व्यवस्था को लेकर समाजसेवी डॉ प्रशांत विक्रम ने बताया कि आज से ठीक एक वर्ष पूर्व मैने भागलपुर के सभी जनप्रतिनिधि से से यह अपील किया था कि सरकारी अस्पताल की हालत बहुत ही नाजुक और दयनीय हो चुकी है। इस पर ध्यान देकर इसे सुधार करने पर आवश्यकता है। डॉ प्रशांत ने बताया कि कोरोना जैसी वौश्विक महामारी से स्वास्थ्य विभाग के साथ साथ सरकार की चिन्ता अचानक बढ़ने के पीछे कई कारण हैं। जिनमें मुख्य रुप से हमारी और हमारे जनप्रतिनिधि की घोर लापरवाही मानी जा सकती है। जनप्रतिनिधि जनता और उसकी तमाम सुविधाओं के मद्देनजर समय समय पर सरकारी अस्पतालों, सार्वजनिक संस्थानों की जांच कर एक उचित सुझाव समय पर सरकार को देती है, ताकि आने वाले समय में कोई विशेष परेशानी या संकट का सामना न करना पड़ें। आज यह एक बड़ी समस्या इसलिए हो गई कि हमने इसे कभी भी गंभीरता से नहीं लिया और न ही इसे जनता के हित में समझा। बेचारी जनता अब पक्ष प्रतिपक्ष का मुँह निहार रही है और ये सारे सड़क पर नौटंकी कर इसे और ही ज्यादा हास्यास्पद बना दिया है, जो काफी दुखद है। एक समुन्नत राष्ट्र के लिये भला इससे ज्यादा और दुर्भाग्य क्या हो सकता है जिस कार्य को जिस जवाबदेही, कर्तव्य निर्वहन से पांच साल में किया जाना था, वो अब इस घोर संकट की घड़ी में आरोप प्रत्यरोपों के बीच और वैश्विक महामारी में क्या निदान का मार्ग प्रशस्त करेगी। आने वाले समय और चुनावी माहौल को देखते हुए भी यह कहा जा सकता है कि अब सरकार पर अपना अपना तंज कसकर इस निर्दोष जनता का क्या भला कर सकेगी। आज के इस हालात पर एक साथ मिलकर रोना, चीखना, चिल्लाना, तंज कसना भला जनता को क्या निजात दिला पायेगी। आईये हम सब मिलकर एक सही निर्णय लेकर तात्कालिक निदान को ढूँढ निकालें ताकि लोगों के हित की बात की जा सकें और इस कोरोना वैश्विक महामारी से बचा जा सके।
Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें