Pakur News : कोरोना से डरने की नहीं, सतर्क रहकर लड़ने की जरूरत: डीसी कुल


उपायुक्त कुलदीप चौधरी ने दिया जिले के सभी सरकारी-निजी अस्पतालों के चिकित्सकों को अलर्ट मोड में रहने का निर्देश

ग्राम समाचार, पाकुड़। डीसी कुलदीप चौधरी ने जिले के सभी सरकारी व निजी अस्पतालों के चिकित्सकों को नोवल कोरोना वायरस से संबंधित मरीजों की पहचान को अलर्ट मोड में रहने को कहा है। देश के विभिन्न राज्यों केरल, दिल्ली, जयपुर आदि शाहरों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है। हालांकि, राज्य में कोरोनावायरस की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन सावधानी एवं सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने आम लोगों से भी ज्यादा से ज्यादा स्वच्छता अपनाने को कहा। कहा कि कोरोना से डरने की नहीं, उससे सतर्क रह कर लड़ने की है। जिले के सभी सरकारी व निजी अस्पतालों को विशेष सतर्कता बरतने को कहा गया है। सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को सर्तक रहने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने हाल के दिनों में चीन, रिपब्लिक ऑफ कोरिया, इटली, ईरान, वियतनाम, जापान, मलेशिया, सिंगापुर, इंडोनेशिया, थाईलैण्ड, हांगकांग, नेपाल से जिले में आये हुए किसी भी यात्री की सूचना प्राप्त होने पर उनके स्वास्थ्य की सतत् निगरानी हेतु अविलंब व्यवस्था करने को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। सदर अस्पताल पाकुड़ में इसके लिए अलग व्यवस्था की गई है।
----------------------------------------
कोरोना वायरस:--

कोरोना वायरस एक तरह का सक्रंमित वायरस है। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमित के जरिए फैलता है। इस वायरस के लक्षण निमोनिया की तरह है।

कोरोना वायरस के लक्षण
-
सिर दर्द।
सांस लेने में तकलीफ।
छींक।
खांसी।
बुखार।
किडनी फेल।

कोरोना वायरस से बचाव

 अपने हाथ साबुन और पानी या अल्कोहल युक्त हैंडरब से साफ करे।
 खांसते और छींकते वक्त अपनी नाक अैार मुंह को टिश्यू या मुड़ी हुई कोहनी से ढंके।
 जिन्हे सर्दी या फ्लू जैसे लक्षण हो तो उनके साथ करीबी संपर्क बनाने से बचे।

क्या करें

 खांसने और छींकने के दौरान अपनी नाक व मुंह को कपड़े अथवा रूमाल से अवश्य ढंके।

 अपने हाथो को साबुन व पानी से नियमित धोयें।
 भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचे।
 फ्लू से सक्रंमित हो तो घर पर ही आराम करें।
 फ्लू  से सक्रंमित व्यक्ति से एक हाथ तक की दूरी बनाए रखें।
 पर्याप्त नींद और आराम लें।
 पर्याप्त मात्रा में पानी /तरल पदार्थ पियें और पोषक  आहार खाएं।
 फ्लू से सक्रमण का संदेह हो तो चिकित्सक से सलाह अवश्य लें।

क्या न करें

 गंदे हाथों से आंख,नाक,अथवा मुंह को छुना।
 किसी को मिलने के दौरान गले लगना,चूमना,या हाथ मिलाना।
 सार्वजनिक स्थानों पर थूकना।
 बिना चिकित्सक के परामर्श के दवाएं लेना।
 इस्तेमाल किए हुए नेपकिन ,टिश्यू पेपर इत्यादि खुले में फेंकना।
 फ्लू वायरस से दूषित सतहों का स्पर्श (रेलिंग,दरवाजे इत्यादि)।
 सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान करना।
 अनावश्यक एच 1 एन 1 की जांचें करवाना।

विनोद कुमार, ग्राम समाचार, पाकुड़, झारखंड।


Share on Google Plus

About विनोद दास, पाकुड़

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment