Pathargama News; शहीद निर्मल महतो के 72 वी जयंती पर कुड़मी विकास मोर्चा ने दी श्रद्धांजलि




ग्राम समाचार, पथरगामा ब्यूरो रिपोर्ट:- रविवार को पथरगामा प्रखंड के पीपरा पंचायत होपना टोला गाँव में कुड़मी विकास मोर्चा के तत्वावधान झारखंड के मसीहा वीर शहीद निर्मल महतो का 72वां जयंती मनाया गया। वहीं कुड़मी विकास मोर्चा के जिलाध्यक्ष दिनेश कुमार महतो ने सर्वप्रथम फूल, अगरबत्ती, धूप - जल लेकर पुष्प अर्पित करते हुए उनके जीवनी सबों के बीच रखा कि वीर शहीद निर्मल महतो जी का जन्म 25 दिसम्बर 1950 को हुआ था l झारखंड अलग राज्य का आंदोलन चल रहा था और.निर्मल महतो को झामुमो का केन्द्रीय अध्यक्ष बना दिया गया l पार्टी कमान संभालने के बाद ही छात्र संगठन आॅल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन का गठन किया। 37 साल की उम्र में निर्मल महतो को निर्मल दा कह कर बुलाते थे, उन्होंने सूदखोरों के खिलाफ भी आंदोलन किया था, निर्मल दा की ना केवल राजनीतिक पहचान थी बल्कि उन्हें सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में भी लोग जानते थे l समाज के लोगों के दुःख- दर्द को ना केवल गंभीरता से लेते थे बल्कि उसे दूर करने के लिए भी पूरी ताकत झोंक देते थे, लेकिन दुर्भाग्य झारखंड अलग राज्य आंदोलन को एक अलग दिशा देने वाले झामुमो के कद्दावर नेता वीर शहीद निर्मल महतो को अपराधियों ने उन्हें बिष्टुपुर के नार्दर्न टाउन स्थित चमरिया गेस्ट हाउस के सामने 8 अगस्त 1987 को गोली मार दी थी, जिससे घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई थी। मौके पर उपस्थित कुड़मी विकास मोर्चा के जिला कोषाध्यक्ष दीपक कुमार महतो, अजय भारती, अक्षय कुमार महतो, संतोष महतो, नीलकंठ महतो, पवन महतो, राजेन्द्र महतो, पंकज महतो, संजय महतो,युगेश महतो, जितन महतो, चंदन महतो, शेखर महतो, दिव्यांश कुमार महतो, कलावती महतो, गायत्री महतो, बबली महतो, सोनी महतो, दीप्ति श्री महतो आदि दर्जनो लोग उपस्थित थे।

अमन राज:- 

Share on Google Plus

Editor - भूपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education