Chandan News: गांव से मुख्य सड़क तक जाने के मार्ग से वंचित है सौतारी गांव के ग्रामीण

 ग्राम समाचार,बांका (चांदन)। बांका जिले के चांदन प्रखंड क्षेत्र के कुसुम जोरी पंचायत अंतर्गत सौतारी गांव में आजादी के 75 वर्ष तक ग्रामीण आज भी सड़क मार्ग से वंचित है। ग्रामीणों को दो से तीन किलोमीटर की पैदल पथरीली रास्ते के चढ़ाई चढ़ कर मुख्य सड़क तक आना पड़ता है। इतना ही नहीं गांव पहुंचने के लिए नदी गहरी ज़ोर से गुजारना भी पड़ता है। कई राहगीर इस गड्ढे में गिरकर जख्मी हो चुके हैं। खास बात यह है कि यदि गांव में कोई गंभीर रूप से बीमार हो जाय, प्रसव पीड़ा से पीड़ित बीमारी हो तो उसे लाने के लिए साइकिल या खटिया पर लादकर नदी पार करना पड़ता है। बावजूद 2 किलोमीटर पैदल चलकर सड़क मार्ग तक लाना पड़ता है। क्योंकि गांव तक जाने के लिए कोई बुनियादी रास्ता नहीं है। जिसे लेकर गांव के ग्रामीण अनिल दास, धानो दास, अशोक दास, विनोद दास, गिरधारी यादव, गंगाधर पोद्दार, महिला बिल्सी देवी, रेखा देवी, टेक्नी देवी, सुनीता देवी, दयावंती देवी, इंदु देवी, शांति देवी आदि ने बताया कि कई वर्षों से क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों एवं ग्राम सभा में सौतारी गांव को सड़क मार्ग से जोड़ने की मांग कर रहे है, लेकिन आज तक ग्रामीणों की मांग पूरी नहीं हो पायी है। जिससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।  



उपरोक्त सभी ग्रामीणों ने बताया कि चुनाव के वक्त वार्ड सदस्य से मुखिया एवं विधायक एमपी वोट लेने के लिए तरह-तरह के लुभावने वादे देकर वोट ले जाते हैं, लेकिन चुनाव जीत जाने के बाद  हम ग्रामीणों से किए गए वायदे को भूल जाते हैं। कभी क्षेत्र के जनप्रतिनिधि गांव तक पहुंचने की जरूरत नहीं समझते हैं। जिस कारण आज तक मूलभूत सुविधा से गांव वंचित है। बीते वर्ष पूर्व मुखिया द्वारा गांव में सड़क बनाने के लिए मिट्टी भर दिया है जो आज थोड़ी सी वर्षा होने पर गांव के लोगों को कीचड़ में ही चलना पड़ता है। छोटे-छोटे बच्चे कीचड़ के दलदल में फंस जाते हैं। सबसे बड़ी कठिनाई पढ़ने वाले छात्र छात्राओं की होती है, जिसे स्कूल जाने के लिए पगडंडी का सहारा लेकर जाना पड़ता है लेकिन उसके बाद भी अभी तक सड़क निर्माण का कार्य शुरू नहीं किया गया है। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि यदि वर्षा ऋतु समाप्त होते ही यदि विभाग द्वारा सड़क एवं नदी में पुल का निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया, तो वे मजबूरन विभाग के खिलाफ आंदोलन के लिए मजबूर हो जायेगें। मौके पर ग्रामीणों ने कहा कि इस संबंध में जिला अधिकारी को लिखित आवेदन देकर गांव की बदहाली को अवगत कराया जाएगा।


उमाकांत साह, संवाददाता, चांदन।

Share on Google Plus

Editor - सुनील कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education