Bounsi News: पिछले 10 वर्षों से मोनू रंजन द्वारा दिया जा रहा है निशुल्क प्रशिक्षण

ग्राम समाचार,बौंसी,बांका। मोनू रंजन शारीरिक शिक्षक माध्यमिक विद्यालय शोभापाथर, श्यामबाजार बौसी बांका में कार्यरत है। इन्होंने कड़ी मेहनत,लगन एवं संघर्ष करके जिला स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक खेल जगत जैसे एथलेटिक्स, क्रिकेट, कबड्डी, स्विमिंग एवं योग के क्षेत्र में कई पदक मेडल ट्रॉफी हासिल करके जिला एवं राज्य का नाम रोशन किया है। इन्होंने अपने उत्कृष्ट अनुशासनात्मक प्रशिक्षण शैली के माध्यम से कई खिलाड़ियों को अनेकों बार ओवरऑल चैंपियन बनाया है। वर्तमान भी बांका जिला में बिहार क्रिकेट कैंप के तीन क्रिकेट खिलाड़ियों का चयन कराया। जिनका नाम इस प्रकार हैं पुनीत यादव, राघवेंद्र कुमार एवं हिमांशु कुमार हैं, जो कि 11 अक्टूबर से मुस्ताक अली टूर्नामेंट में भाग लेंगे। इन्हें कई बार सरकार एवं कई प्रतिष्ठित संस्थान द्वारा बेस्ट खेल शिक्षक , बेस्ट कोच, एवं साहसिक सामाजिक कार्यों के लिए सम्मान प्राप्त एवं उपलब्धि हासिल की है। इस कड़ी में 2017 में बेस्ट कबड्डी कोच के रूप में प्रधानाध्यापक संत जेवियर स्कूल पटना के द्वारा सम्मानित किया गया। 2018 में बेस्ट क्रिकेट कोच एसएएस ऑफिसर श्री अर्जित पेटू टुंडा एनआईटी पटना के द्वारा सम्मानित किया गया।  2019 में खेल मंत्री माननीय श्री प्रमोद कुमार बिहार सरकार द्वारा वेस्ट कोच का सम्मान उनके हाथों प्राप्त किया एवं 2022 में निशुल्क सफल प्रतियोगिता 

एथलेटिक्स सेंड एथलेटिक क्रिकेट एवं योग शिविर के लिए सर्वश्रेष्ठ खेल  प्रशिक्षक शिक्षक के लिए आदरणीय आनंद कुमार गणितज्ञ सुपर 30 पटना संस्थापक के द्वारा सम्मान दिया गया। साथ ही साथ ही उत्कृष्ट कार्यों खेल प्रशिक्षण एवं समाजसेवी कार्यो के लिए आदरणीय आईपीएस श्री विकास वैभव सर विशेष सचिव, गृह विभाग बिहार, द्वारा सम्मानित किया गया है। यह पिछले 10 वर्षों से बिहार दरोगा, बिहार पुलिस, इंडियन आर्मी एवं अग्निवीर के लिए निशुल्क प्रशिक्षण देने का कार्य कर रहे हैं जिसमें अभी तक हजारों गरीब बच्चों को लाभ मिला है जो आज बिहार दरोगा पद के साथ साथ भारतीय सेना के पद पर पदस्थापित होकर कार्य कर रहे हैं। इस कड़ी में बांका जिला बौसी प्रखंड से अनीश कुमार ,संजीव कुमार , परनीत एवं कुमारी प्रिया जो आज दरोगा के पद पर कार्यरत हैं। हाल के पिछले दिनों में कोविड-19 संक्रमण महामारी में जरूरतमंद मनुष्यों एवं भूखे जानवरों को भोजन खिला कर उनके जीवन बचाने का कार्य किया है। सभी जनप्रतिनिधियों ने इनके कार्यों के प्रति सराहाना व्यक्त की है। आज अपने पदस्थापित विद्यालय माध्यमिक विद्यालय शोभापाथर, श्याम बाजार में उत्कृष्ट साहसिक अनुशासनात्मक कार्यशैली के माध्यम से बच्चों को प्रशिक्षण देने का कार्य कर रहे हैं जो काफी सराहनीय है, साथ ही जिस विद्यालय में शारीरिक शिक्षक कार्यरत नहीं है उन विद्यालयों में भी बीच-बीच में समय निकालकर वहां के बच्चों को खेल के प्रति जागरूक एवं उसमें निहित ऊर्जा को रास्ता दिखाने का कार्य कर रहे हैं।    

संदेश---- मोनू रंजन का मानना है बिहार राज्य के सुदूर क्षेत्र गांव में बच्चों में प्रतिभाओं की एवं ऊर्जा की कमी नहीं है अगर कमी है तो वह उत्कृष्ट खेल प्रशिक्षक एवं खेल मैदान उचित मार्गदर्शन की। आज बेस्ट प्रशिक्षक की कमी के कारण  विगत 45 वर्षों से अंतर्राष्ट्रीय जैसे ओलंपिक खेलों में बिहार की सहभागिता नगण्य है। इसलिए खिलाड़ियों के लिए संदेश है ऐसे किसी का जय जयकार नहीं होता मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होता।

कुमार चंदन,ग्राम समाचार संवाददाता,बौंसी। 

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education