Chandan News: सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट की सच्चाई: एक वर्ष से बंद पड़े हैं जल मीनार

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। जानिए राज्य सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट हर घर नल-जल योजना की सच्चाई। ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साल 2015 अपने ड्रीम प्रोजेक्ट की एक पोटली बनाई थी। जिसका नाम दिया था सात निश्चय योजना। उसी ड्रीम प्रोजेक्ट में से एक था हर घर नल-जल योजना। जिसके माध्यम से हर घर को नल के जरिए जल पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था। मगर योजना का हाल यह है कि कहीं मीनार खड़ी है तो बोरिंग फेल, कहीं मोटर जला हुआ है, तो कहीं पूरे वार्ड में अभी तक कनेक्शन नहीं पहुंचा पाया है। ये सारी दास्तान चांदन प्रखण्ड का कुसुम जोरी पंचायत में देखने को मिला है ख़ास कर कुसुम जोरी गांव के वार्ड 10 से सामने आ आई है। जहां टंकी तो लगा है लेकिन जब से लगा है तब से उस वार्ड के लोगों को कभी इस योजना का लाभ सही से नहीं उठा पाया हैं। इस योजना के तहत वार्ड के कुछ ही घरो में पानी का कनेक्शन हुआ है। जबकि इस वार्ड में करीब 250 चुल्हा के लोगों का खाना पकाया जाता है। यहां करीब 1000 की आबादी है। ग्रामीण सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्राक्कलन के मुताबिक कोई कार्य नही हुआ है। तीन फीट के बजाए डेढ़ से दो फीट ही गड्ढा खोद कर पाइट बिछाया गया है जिससे जहां तहां पाइप बाहर निकल कर फट गया है। देखने की बात है  इस 

योजना में घटिया किस्म का समरसेबल लगाया गया है वह भी 125 केवी का जबकि इस योजना में उच्च क्वालिटी से 3 केवी का समरसेबल लगना था। घटिया सामग्री का प्रयोग कर इस योजना को अमलीजामा पहनाया गया है। जो फिलहाल बन्द है। बार-बार मोटर खराब हो जाता है जिस कारण साल भर से यह जल मीनार शोभा का वस्तु बना हुआ है।‌मोटर ख़राब हुए साल भर हो गया है। उसे मरम्मत करने का आदेश पंचायती राज विभाग द्वारा जारी किया गया था। लेकिन इस वार्ड के क्रियान्वयन समिति एवं प्रशासन की लापरवाही के कारण अब तक मरम्मत नही हुआ है । जिससे इस भीषण गर्मी में पानी के लिए दुर सुखे नदी में गड्ढा खोद कर जरुरत पुरा करना पड़ रहा है। जिससे बिमारी का खतरा बना हुआ है। इस गांव एक दो चापाकल था वह भी कई महिनों से टुटा पड़ा है। हैरानी इस बात की है की इस वार्ड में हजारों की आबादी है यहां दो जल मीनार बनाए गए हैं जिसमें बंद पड़े जल मीनार से डेढ़ सौ करोड़ तक के लिए नल बिछाया गया है। जो कुछ दिन चालू रहा। दूसरी और दूसरी जल मीनार निमचंद यादव के घर पुरानी चापाकल में योजना की प्राक्कलन राशि खर्च कर दिया है। जिससे मात्र 10 घरों में ही पाईप बिछा कर अपने मन मुताबिक पंप संचालित करता है और तो उसी पानी से फसल उगाने का काम करता है लेकिन बाकी घरों के लोग आज तक इस योजना से वंचित है। जिसको देखने वाला कोई अधिकारी आज तक इस गांव में नहीं आया है।इस संबंध में चांदन बीडीओ राकेश कुमार ने बताया कि योजना का जांच की जाएगी। जल्द ही लोगों के घरो तक पानी पहुचाने का कार्य होगा। 

उमाकांत साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education