Rewari News : डूंगरवास को हाइवे से जोड़ने वाली सड़क के निर्माण की जांच की मांग

 


रेवाड़ी। डूंगरवास को दिल्ली-जयपुर हाइवे (निखरी) से जोड़ने वाली सड़क के निर्माण की जांच की मांग उठने लगी है। आसपास के ग्रामीणों का आरोप है कि इसके निर्माण में पहले ही घटिया सामग्री इस्तेमाल की गई थी। कुछ समय में ही टूटने के बाद इसका पैचवर्क किया गया, लेकिन एक महीने में ही यह पैचवर्क भी गायब हो गया। सड़क में फिर से रोड़ों में तब्दील हो गई है। इससे यहां से गुजरने वाले सैंकड़ों वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आसपास के ग्रामीणों ने विधायक चिरंजीव राव और उपायुक्त यशेंद्र सिंह से इसके निर्माण से लेकिर पैचवर्क तक के पूरे प्रकरण की जांच कराने की मांग की है। ग्रामीणों का आरोप है कि हरियाणा कृषि विपणन बोर्ड (मार्केटिंग बोर्ड) ने इसके निर्माण और पैचवर्क में बड़ी लापरवाही बरती है ब‌ल्कि बड़ा घोटाला भी किया है। इसलिए इस रोड की लागत से लेकर निर्माण गुणवत्ता की जांच होनी चाहिए। 

डूंगरवास निवासी चंद्रजीत यादव ने कहा कि विधायक से मिलकर इसकी जांच कराने का पत्र सौंपा गया है। उपायुक्त को इसकी प्रति भेजी गई है। उन्होंने बताया निर्माण के बाद से ही रोड खस्ताहाल हो गया था। मार्केटिंग बोर्ड ने कभी इसकी मरम्मत भी नहीं कराई। रोड जब बिल्कुल टूट गया तो सैंकड़ों शिकायत के बाद इसका आधा आधूरा पैचवर्क किया गया। वह पैचवर्क भी टूट गया। पैचवर्क के नाम पर सड़क पर कहीं-कहीं बिना तारकोल के रोड़ियां डाल दी गई जो अब पूरी तरह उखड़ गई है। उन्होंने कहा कि विधायक चिरंजीव ने इस मामले उपायुक्त से पूरे मामले की जांच का आश्वासन दिया है। विधायक खुद इस सड़क की हालत से अवगत हैं। 

बता दें कि डूंगरवास से निखरी की ओर जाने वाली करीब एक किलोमीटर की सड़क कई गांवों के लोगों के ‌की आवाजाही का माध्यम है। मसानी, रसगण की ओर से आने वाले लोगों को यह हाइवे से जोड़ती है तथा भटसाना, निगानियांवास, की ओ से आने वाले को रेवाड़ी और पटौदी रोड से जोड़ती है। दिन भर इससे सैंकड़ों वाहन गुजरते हैं।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education