Dumka News: दुमका संसदीय क्षेत्र मसलिया में सांसद सुनील सोरेन ने किया दौरा

सांसद सुनील सोरेन ने आधा दर्जन पंचायतों के दर्जनों गांवों में किया दौरा

बसकीडीह के किसानों ने रखा कोल्ड स्टोरेज की मांग

मसलिया के कार्यकर्ताओं व ग्रामीणों से हाल चाल पूछते दुमका सांसद सुनील सोरेन

ग्राम समाचार, दुमका । मसलिया प्रखंड के पश्चिमी भाग के आधा दर्जन पंचायतों के दर्जनों गांवों में दुमका भाजपा सांसद सुनील सोरेन ने रविवार को दौरा किया। वे सर्वप्रथम आश्रम मोड़ पहुंचे जहां भाजपा कार्यकर्ताओं से मिलकर बसमत्ता गांव पहुंचे। मध्याह्न भोजन पार्टी कार्यालय बसमत्ता में करने के बाद खुटोजोरी पंचायत के पिंडारी गांव पहुंचे। जहां अस्वस्थ भाजपा कार्यकर्ता जियाराम दास से मिले। तत्पश्चात गुमरो गांव पहुंचे । जहां पूर्व कृषि मंत्री सत्यानंद झा बाटुल की 105 वर्षीय स्वर्णमयी देवी दिवंगत मौसी, भाजपा के जनसंघ काल के कार्यकर्ता वासुदेव दे 86 व कविता देवी 46 देहांत पर शोक व्यक्त करते संतप्त परिजनों से मिलकर ढाढ़स बंधाया। जेरूवा होते बसकीडीह पंचायत के बसकीडीह पंचायत के मोहलीडीह गांव के पुराने अस्वस्थ कार्यकर्ता दयामय पंडित का हाल चाल जाना। बसकीडीह पंचायत के कृषक मित्र क्रांति राणा ने सांसद से सर्वाधिक आलू की खेती करने वाले बरमसिया के किसानों के लिए कोल्ड स्टोरेज बनवाने की मांग किया। जिसपर सांसद सुनील सोरेन ने कहा कि कृषक एक अद्योहस्ताक्षरी आवेदन दें इसके लिए प्रयास किया जाएगा। आगे कहा कि संसदीय क्षेत्र की जो भी समस्या हो दुमका समाधान केंद्र में आवेदन अवश्य जमा करें। समाधान का हर सम्भव प्रयास किया जाएगा। इसके बाद सांसद रानीघाघर गोलबंधा होते वापस दुमका लौट गए। मौके सोनी हेम्ब्रम,मसलिया पश्चिमी बसमता मंडल अध्यक्ष नरेश चंद्र मंडल,अर्जुन सिंह,ब्रजकिशोर झा, क्रांति राणा,रंजीत सिंह,पवन सिंह,दिलीप दे,अरुण पंडित,उत्तम मंडल,नंद किशोर,दशरथ,बिमल,बैजनाथ,अरुण,क्रांति,सुबोध,डोमन,अमित,सहदेव मुर्मू, दशरथ,बुद्धदेव,शिबू,सुपलाल,मधु मंडल समेत दर्जनों कार्यकर्त्ता उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

Editor - केसरीनाथ यादव, दुमका

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education