Pathargama News: उदयाचल सूरज को अर्घ्य देने के साथ महापर्व छठ व्रत संपन्न





ग्राम समाचार, पथरगामा ब्यूरो रिपोर्ट:- उदयाचल सूरज को अर्घ्य देने के साथ प्रकृति पूजा का महापर्व छठ व्रत धूमधाम से शांतिपूर्ण संपन्न हो गया| प्रखंड के बाबा जी पोखर छठ घाट, सापीन नदी, सुंदर नदी, तरडिहा नदी, क़ोरका घाट पोखर, कुरावा पोखर, लखन पहाड़ी का खंता पोखर, खरियाणी का सापीन नदी घाट, धमसांय, चौरा, विशाहा, रानीपोखर खैरबानी आदि दर्जनों छठ घाटों को सामाजिक कार्यकर्ताओं के संगठनों ने साफ सुथरा करा कर लाइट बत्ती से सजा दिया था, जिसके चलते छठ व्रती महिलाओं को कोई परेशानी नहीं हुई| तकरीबन सभी छठ घाटों पर हवन के लिए आम की लकड़ी, अर्घ देने के लिए दूध, महिलाओं के कपड़ा बदलने के लिए कनात का घेरा आदि की व्यवस्था भी की गई थी| इधर पथरगामा के बाबाजी पोखर छठ घाट में छठ व्रतियों के आने जाने के लिए साफ सुथरा सड़क की व्यवस्था, साफ सफाई, सजावट और बिजली बत्ती की व्यवस्था, बाबाजी पोखर की गहराई को देखते हुए 8 गोताखोर और चिकित्सक दल की व्यवस्था स्थानीय डीएवी पब्लिक स्कूल के निर्देशक संतोष कुमार महतो के द्वारा किया गया था| पुलिस प्रशासन और प्रशासनिक पदाधिकारियों का सहयोग भी अपेक्षा के अनुकूल रहा पथरगामा चौक पर पूजा सामग्री खरीदने वालों की भीड़ को देखते हुए तथा छठ घाटों पर उमड़ी भीड़ को कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुरूप व्यवहार सुनिश्चित करवाने को लेकर प्रखंड विकास पदाधिकारी अमल कुमार, अंचलाधिकारी संतोष बैठा, प्रखंड पशुपालन पदाधिकार डॉ हरिहर प्रसाद, पुलिस निरीक्षक बलवीर सिंह, थाना प्रभारी बलिराम रावत के द्वारा दल बल के साथ पथरगामा चौक से प्रखंड के तमाम छठ घाटों तक लगातार चौकसी बरती गई| कहीं भी किसी प्रकार की कोई दुर्घटना नहीं घट पाई| छठ घाटों पर गश्ती के दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी अमल कुमार और प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी डॉ हरिहर प्रसाद आदि ने भी अस्ताचल और उदयाचल सूर्य को  अर्घ्य भी दिया|

अमन राज:-

Share on Google Plus

Editor - भूपेन्द्र कुमार चौबे

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education