Rewari News : कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री का पुतला फूंका व राज्यपाल के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा

रेवाडी। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा किसानों पर दिए गए विवादित ब्यान पर रेवाडी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का पुतला फूंका व महामहिम राज्यपाल के नाम एसडीएम रेवाडी को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर मौजूद रहे जिला कॉडिनेटर नरेश शर्मा, पार्षद प्रवीण चौधरी, पार्षद सुरेश शर्मा, पार्षद नरेश हजारीवास, पार्षद मोनु राव, महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष अमृतकला टिकाणिया, डा. रामफल, युथ कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष अजीत तोंगड, देवकी नंदन, शेर सिंह वर्मा, नरेंद्र पाचोरी, आर डी शर्मा, डा. विपिन शर्मा, रामगिरी, अरविंद दिसोदिया, गगन गुप्ता, सैन सैनी, ललित अग्रवाल इत्यादि ने कहा कि हरियाणा की भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार अपने तानाशाही रवैये के चलते लगातार जनविरोधी निर्णय ले रही है। यह सरकार विपक्षी दलों, किसानों, मजदूरों और आम जनता की आवाज दबाने के लिए हर प्रकार के हथकंडे अपना रही है। भाजपा-जजपा सरकार ने मिलकर पिछले दस महीनों से किसानों के हिस्से में लाठीचार्ज, पानी की बौछारें, आंसू गैस के गोले तथा कीलें व नश्तरों की प्रताडऩा लिख दी है। 25 नवंबर, 2020 से आज तक किसान-मजदूर के सीने पर मोदी व खट्टर सरकारों ने लगातार वार किया है और खून बहाया, किसान आंदोलन को कुचलने के लिए पुलिस बल का सहारा लिया गया। 



महामहिम महोदय, पहले करनाल मे मुख्यमंत्री-उपमुख्यमंत्री ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से किसानों के सिरों पर लाठियां बरसाकर कातिलाना हमला करने का आदेश देना लेकिन जब सरकार इन सब में विफल रही तो अब कुछ लोगों को हिंसा के लिए भडक़ाया जा रहा है। खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा कुछ लोगों को हिंसा के लिए भडक़ाने वाला बयान अत्यंत ही निंदनीय और शर्मनाक है। एक मुख्यमंत्री द्वारा ऐसे बयान की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ऐसे बयानों से प्रदेश का तानाबाना बिगाडऩे की कोशिश कर रहे हैं और प्रदेश को हिंसा की तरफ झोंक रहे हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के इस बयान से प्रदेश की कानून व्यवस्था बिगड़ सकती है। जब प्रदेश का मुख्यमंत्री ही ऐसे बयान देगा तो क्या अपराधियों के हौसले और भी बुलंद होंगे। 


मान्यवर, सोशल मीडिया पर जो वीडियो दिखाई दे रहा है, उसमे हमारे हरियाणा के मुख्यमंत्री बोल रहे थे कि कुछ नए किसानों के संगठन जो नए उभर रहे हैं उनको भी प्रोत्साहन देना पड़ेगा उनको आगे चलाना पड़ेगा और दक्षिण हरियाणा में ज्यादा समस्या नहीं है लेकिन उत्तर पश्चिम हरियाणा के हर जिले में 500, 700, 1000 लोग आप लोग अपने खड़े करो और उनको वॉलिंटियर बनाओ और फिर जगह-जगह जैसे को तैसा, ठालो डंडे, ठीक है, वो देख लेंगे और दूसरी बात ये है जब ठावागे डंडे तो जमानत की परवाह मत करो, दो चार महीने वहां रह आओगे तो बड़े लीडर अपने आप बन जाओगे, नहीं-नहीं दो चार महीने मे अपने आप बड़े नेता बन जाओगे, चिंता मत करो, इतिहास में नाम लिखा जाता है। यह वीडियो सोशल मीडिया व यूट्यूब पर उपलब्ध है। मान्यवर, मुख्यमंत्री ने ऐसा फरमान जारी करके मुख्यमंत्री के पद की गरिमा को भी ठेस पहुंचाई है। इससे लोगों में भय का माहौल हैं तथा किसी भी समय संगीन अपराध घटित हो सकता है। हम सभी कांग्रेसजन मुख्यमंत्री जी के इस ब्यान की कड़े शब्दों में निंदा करते हुएआपसे निम्न दो मांग करते हैं 
1. मनोहर लाल जी को मुख्यमंत्री के पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं है, उन्हे तुरंत उनके पद से बर्खास्त किया जाए। 
2. इस प्रकार के ब्यान देने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ उचित कानूनी कार्यवाई की जाए।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education