Jamtara News:शासन प्रशासन के उदासीन कार्यशैली के विरुद्ध 118 पंचायत मुख्यालय में पंचायत स्तरीय सम्मेलन होगा।


  ग्राम समाचार, जामताड़ा।अनुसूचित जिले में शासन प्रशासन की उदासीनता के कारण जिले में पांचवी अनुसूची अधिनियम का खुलम खुला उल्लंघन हो रहा है। जिस कारण ग्राम सभा का आयोजन पूर्ण रूप से ध्वस्त हो चुकी है। इसी का परिणाम है कि अनुसूचित क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं का विकास, परंपरागत संस्कृति सभ्यता, जल जंगल जमीन भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रहा है। इसे संरक्षण एवं संवर्धन के लिए ग्राम प्रधान गांव से राष्ट्रीय स्तर तक संघर्ष को तैयार है। उक्त बातें ग्राम प्रधान संघ के जिला मंत्री शिवलाल मुर्मू ने शुक्रवार को गांधी मैदान में संपन्न जिला स्तरीय बैठक में कहा। बैठक में चर्चा किया गया कि अनुसूचित क्षेत्र में ग्रामसभा विधानसभा एवं लोकसभा प्रभाव कारी व्यवस्था है लेकिन शासन एवं प्रशासन इस व्यवस्था के बुनियाद यानी ग्राम सभा को लुप्त करने का प्रयास कर रहा है। इसी प्रयास का खामियाजा आज अनुसूचित क्षेत्रों के लोगों को भुगतना पड़ रहा है लोगों को संविधान प्रदत्त पांचवी अनुसूची अधिनियम के लाभ से वंचित रहना पड़ रहा है। शासन प्रशासन का इसी सौतेला व्यवहार आगे भी बरकरार रहा तो कई दशक से चल रहे परंपरागत शासन सभ्यता संस्कृति समाप्त होगा और भ्रष्टाचारियों का बोलबाला शहर से गांव तक होगा। सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया की प्रधानी मौजा में ग्राम सभा का आयोजन ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में सुनिश्चित हो अब तक अधिकांश ग्राम सभा ग्राम प्रधान के बगैर उपस्थिति में हुई है इसकी उच्च स्तरीय जांच हो। राज्य सरकार एक साजिश के तहत प्रधानी मौजा में ग्राम प्रधान के माध्यम से ऑफलाइन मालगुजारी राशि वसूली पर पिछले चार साल से रोक लगा रखे हैं। ऑफलाइन मालगुजारी राशि वसूली का विभागीय निर्देश शीघ्र जारी किया जाए। उपरोक्त समस्याओं का निदान जिला प्रशासन शीघ्र नहीं करती है तो पंचायत से लेकर प्रदेश स्तर तक आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन होगा। सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि दुर्गा पूजा के बाद जिले के 118 पंचायत मुख्यालयों में पंचायत स्तरीय कमेटी का गठन कर प्रखंड स्तरीय सम्मेलन करें प्रखंड स्तरीय सम्मेलन के बाद जिला स्तरीय महासम्मेलन का आयोजन करें। कहा प्रत्येक राजस्व ग्राम प्रधान सूचना अधिकार अधिनियम के तहत आवेदन देकर सूचना की मांग करें कि मेरे प्रधानी मौजा में कितने बार ग्राम सभा हुई है क्या ग्राम सभा में ग्राम प्रधान की उपस्थिति एवं ग्राम प्रधान की अध्यक्षता सुनिश्चित हुआ है या नहीं अगर नहीं तो इसके लिए कौन पदाधिकारी या कर्मचारी जिम्मेवार है वरीय पदाधिकारी ऐसे पंचायत कर्मियों को चिन्हित कर विभागीय कार्रवाई करें। बैठक में कर्माटांड़ प्रखंड अध्यक्ष धनंजय सिंह, नारायणपुर प्रखंड अध्यक्ष हेमन मुर्मू, जामताड़ा के सुभाजित सरखेल, अशोक कुमार सिंह, उज्जवल भंडारी समेत विभिन्न प्रखंड के संगठन पदाधिकारी शामिल थे।

Share on Google Plus

Editor - कौशल औझा, जामताड़ा (झारखंड)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education