Bounsi News: विश्वकर्मा जयंती के साथ इसी दिन वामन जयंती और परिवर्तिनी एकादशी भी मनाई जाएगी

ग्राम समाचार,बौंसी,बांका। 

आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को विश्वकर्मा पूजा की जाती है। माना जाता है कि इस दिन ही ऋषि विश्वकर्मा का जन्म हुआ था। इस साल विश्वकर्मा पूजा 17 सितंबर शुक्रवार को मनाई जाएगी। इस दिन भगवान विश्वकर्मा के साथ ही कारखानों और फैक्ट्रियों में औजारों की पूजा की जाती है। हिंदू धर्म में विश्वकर्मा पूजा का विशेष महत्व है। मान्यता है कि विश्वकर्मा दुनिया के सबसे पहले इंजीनियर हैं। हिन्दू धर्म में भगवान विश्वकर्मा को सृष्टि का निर्माणकर्ता और शिल्पकार माना जाता है। इन्हें यंत्रों का देवता कहा जाता है। विश्वकर्मा ब्रह्मा के 7वें पुत्र हैं। हिंदू धर्म शास्त्रों के मुताबिक़, 

ब्रह्मा जी के निर्देशानुसार विश्वकर्मा जी ने इंद्रपुरी, द्वारिका, हस्तिनापुर, स्वर्गलोक और लंका आदि राजधानियों का निर्माण किया था। कहा जाता है कि भगवान विश्वकर्मा ने ही देवताओं के लिए अस्त्रों, शस्त्रों, भवनों और मंदिरों का निर्माण किया था। सृष्टि की रचना में विश्वकर्मा ने भगवान ब्रह्मा का सहयोग किया था। कहा जाता है कि भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने से व्यक्ति को किसी भी तरह की कोई कमी नहीं रहती है। व्यापार में वृद्धि होती है। जीवन में धन-धान्य और समृद्धि की कोई कमी नहीं रहती है। उनकी सभी मनोकामना भी पूर्ण होती है। ज्योतिषाचार्य की माने तो, इस दिन सूर्य कन्या राशि में प्रवेश कर रहा है। इसलिए कन्या संक्रांति  भी मनाई जाएगी। इस बार सवार्थ सिद्धि योग में भगवान विश्वकर्मा की पूजा का योग बन रहा है। विश्वकर्मा जयंति के साथ इसी दिन वामन जयंति और परिवर्तिनी एकादशी 

भी मनाई जाएगी। इसी कड़ी में वार्षिक विश्वकर्मा पूजा की तैयारी प्रखंड क्षेत्र में जोर शोर से शुरू हो गई। प्रखंड क्षेत्र के बौंसी मुख्य बाजार के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों के बाजार में सुबह से ही लोगों की चहल कदमी देखी गई। जहां श्रद्धालुओं ने पूजा के 1 दिन पूर्व ही विश्वकर्मा पूजा की तैयारी के लिए फल,मिठाई की खरीदारी शुरू कर दी।  लोगों को अपने अपने  सजावट का समानों की खारीदारी करते देखा गया। वहीं वाहन आदि के साथ लोहा लक्कड़  इत्यादि के व्यवसायी सुबह से ही अपने अपने व्यवसाय के स्थान को साफ सुथरा करने में जुट गए। 17 सितंबर शुक्रवार को होने वाली विश्वकर्मा पूजा के लिए सजावट के लिए फूल मालाओं के साथ पूजन सामग्री इत्यादि की खरीदारी की गई। 

कुमार चंदन,ग्राम समाचार संवाददाता,बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education