expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


Rewari News : किसान भाईयो के लिए खुशखबरी अब मोबाईल पर FARMS APP से घर बैठे किराए पर ले कृषि यन्त्र : इंजी0 दिनेश शर्मा

रेवाड़ी, 9 जुलाई। कृषि एंव किसान कल्याण विभाग हरियाणा द्वारा हर वर्ष फसल अवशेष प्रबन्धन, स्मैम, प्रोमाशन ऑफ कॉटन कल्टीवेशन जैसी विभिन्न स्कीमों के तहत किसानों का व्यक्तिगत व कस्टम हायरिंग सैन्टरों को कृषि यन्त्र व मशीनें 50 से 80 प्रतिशत तक अनुदान उपलब्ध करवाया जाता हैै।

सहायक कृषि अभियन्ता इंजी0 दिनेश शर्मा ने बताया कि जिला रेवाडी में भी गत तीन वर्षो में विभाग द्वारा 6 कस्टम हायरिंग सैन्टर व व्यक्तिगत किसानों को लगभग 400 कृषि यन्त्र अनुदान पर उपलब्ध करवाए गए है। जो किसान कृषि यन्त्र खरीदने में सक्षम नहीं है वह किसान इन कृषि यन्त्रों को किराए पर ले सकते है। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मन्त्रालय ने किसानों की सुविधा के लिए  FARMS   के नाम से एक एप विकसित किया है यह मोबाईल एप जरूरतमंद किसानों तक इन मशीनों को पहुंचाने में काफी मददगार साबित हो सकता है। किसान गूगल प्ले स्टोर से इस एप को डाउनलोड करके अपना पंजीकरण कर सकते है। इस मोबाइल एप की सहायता से किसान भाई घर बैठे अपने जिले और 150 किलोमीटर तक के कस्टम हायरिंग सैन्टरों का पता, उनके पास उपलब्ध कृषि यन्त्रो की सूची, किराया सूची आदि की जानकारी ले सकते है और बुकिंग भी करवा सकते है। यदि कोई किसान अपना कृषि यन्त्र या मशीन किराए पर देना चाहता है तो वह इस मोबाईल एप पर पंजीकरण करके अपना पूरा विवरण दर्ज कर सकता है ताकि दूसरे किसान भी किराए पर ये उपकरण ले सकें। इससे लघु एंव सीमांत किसानों को कृषि यन्त्र व मशीनें किराए पर मिल सकेंगी, वहीं इन्हें किराए पर देने वाले कस्टम हायरिंग सेन्टरों और किसानो को भी अतिरिक्त आमदनी हो सकेगी। किसान अपने एंड्रायड मोबाईल फोन द्वारा यह कार्य आसानी से कर सकते है। इस मोबाईल एप पर जिले के लगभग सभी कस्टम हायरिंग सेेंटर रजिस्टर्ड है।
सहायक कृषि अभियन्ता इंजी0 दिनेश शर्मा ने यह भी बताया कि मक्का बिजाई के लिए मल्टी क्रॉप प्लान्टर मशीन नि:शुल्क उपलब्ध है। मक्का बिजाई करने के इच्छुक किसान यह मशीन सहायक कृषि अभियन्ता रेवाडी कार्यालय में प्रार्थना पत्र देकर व आधार कार्ड की प्रति जमा करवाकर पहले आओ पहले पाओ के आधार पर मशीन प्राप्त कर सकते है। ट्रैक्टर व डीजल का प्रबन्ध किसान को स्वयं करना होगा।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें