Pakur News: पत्रकार कार्तिक रजक पर हुए झूठे अपहरण केस के विरोध में गोलबंद हुए ग्रामीण.

         जनता ने प्रशासन से निष्पक्ष जाँच की किया अपील


ग्राम समाचार, पाकुड़। पत्रकार कार्तिक रजक के पक्ष में उतरी अमड़ापाड़ा की जनता । ग्रामीणों ने शनिवार को डाकबंगला में बैठक कर उन्हें साजिश के तहत अपहरण के झूठे मामले में फँसाए जाने का मुखर विरोध किया है । राजनीतिक व सामाजिक कार्यकर्ता मंटू भगत ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया में कहा है कि वो एक सम्मानित और मिलनसार व्यक्ति हैं । उन्हें बार - बार विरोधियों द्वारा षड्यंत्र कर  झूठे केस में फँसाया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है । मैं सरकार व प्रशासन से माँग करता हूँ कि उनपर किए गए झूठे अपहरण के केस की बारीकी से जाँच करे और दोषियों पर कार्रवाई करे । अन्यथा , हमलोग सड़क पर उतरने को मजबूर होंगे । सामाजिक व वरीय राजनीतिक कार्यकर्ता नारायण भगत  ने भी कार्तिक रजक को गलत केस में फँसाए जाने की आलोचना किया है । कहा कि मैं कार्तिक के आचरण से पिछले 25 वर्षों से वाकिफ हूँ । वो ऐसा कभी नहीं कर सकते । मैं प्रशासन से यह अनुरोध करता हूँ कि निष्पक्ष जाँच कर उनका नाम केस से हटाए ।   वहीं  समाज व राजनीति से ताल्लुकात रखने वाले जुझारू शख्श मु तनवीर अली ने कहा कि बीते 17 जुलाई को ( जिस दिन अपहरण की घटना को घटित दिखाया गया है )  कार्तिक जी हमलोगों के साथ प बंगाल के पॉवर मिनिस्टर के आवास पर जंगीपुर में  थे । उन्हें बदनाम कर उनकी छवि को धूमिल करने की नाकाम कोशिश की जा रही है । उन्हें प्रशासन के स्तर से न्याय मिलना ही चाहिए अन्यथा हमलोग चरणबद्ध आंदोलन करेंगे । वहीं सेवानिवृत्त शिक्षक प्रधान मूर्मू ने भी कार्तिक रजक को गलत ढंग से फँसाए जाने का विरोध किया है । उन्होंने सिस्टम से न्यायोचित पहल की माँग किया है । वहीं समाज के बुजुर्ग नागरिक नरेशकांत साह ने बैठक में कहा कि कार्तिक रजक शुरू से ही बेदाग चरित्र का लड़का रहा है मैं उसे बचपन से जानता हूँ । यह घटना राजनीतिक साजिश का एक हिस्सा है । हमलोग विरोधियों का डंटकर मुकाबला करने को तैयार हैं । वहीं समाज के प्रबुद्ध युवक तारेश मरांडी ने कहा कि कार्तिक रजक मीडिया में रहते  हमेशा  आदिवासी समाज के हक के लिए  तैयार रहे हैं । उनके पिता भी स्व प्रह्लाद रजक (  उप विकास आयुक्त ) समाज के माईल स्टोन थे । वो संस्कार के बीच पले हैं । वो किसी के साथ छेड़खानी या अपहरण नहीं कर सकते । ग्रामीण संजय भगत, विजय भगत , अमित भगत  और रामजी भगत ने भी इस प्रकार से षड्यंत्र कर किसी सामाजिक सरोकार से जुड़े नागरिक अथवा पत्रकार को फँसाए जाने का विरोध किया है । उन्होंने कहा कि हमलोग कार्तिक रजक के समर्थन में खड़े हैं । इस बैठक के दौरान गोपाल सिंह , मु जलाल ,   सरोज मंडल , दीपंकर भगत , अमरनाथ भगत ,सुमन भगत ,  विकास भगत , पिंटू साह , निखिल , सुमन कुमार , नितेश कुमार , मु जाबेद , अशलम , घनश्याल पाल , रोहित कुमार आदि सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education