Chandigarh News : पेट्रोल-डीजल और घरेलू गैस के दाम बढने से मंहगाई लोगों के घरों तक पहुंच गई : डा सुशील गुप्ता

चंडीगढ, 2 जुलाई। मोदी जी के राज में किसी का विकास हो या ना हो, मगर मंहगाई का विकास तो जरूर देखने को मिल रहा है। इसका जीता जागता उदाहरण पेट्रोल-डीजल और घरेलू गैस के दाम का बढना। यह कहना है डा सुशील गुप्ता का सांसद, आम आदमी पार्टी का। मीडिया को जारी एक बयान में आप सांसद सुशिल गुप्ता ने कहा कि 



मोदी जी कहते है कि उनका एजेंडा विकास का एजेंडा है। हां हमें भी विकास देखने को मिल रहा है, लेकिन यह विकास आम आदमी को मारने पर तुला है। देश में गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों की जीने की आस टूट रही है। पहले तो कोरोना काल में परिवार पर परेशानी टूटी। दूसरा मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल और घरेलू गैस के दामों को बढा दिया। जिसके चलते अब गरीबों का घर चलना मुश्किल हो गया है। 

उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल के रेट तो पहले से ही नाक में दम किए ही हैं अब बिना सब्सिडी वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम भी बढ़ गए हैं। यानी 1 जुलाई से  इंडेन के सिलेंडर भरवाने के लिए आपको 25 रुपये ज्यादा चुकाने होंगे। बता दें मई व जून में घरेलू सिलेंडर के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया था। अप्रैल में एलपीजी सिलेंडर के दाम में 10 रुपये की कटौती की थी। आज अभी दिल्ली में एलपीजी सिलेंडर का दाम 834 रुपये है। 

डा गुप्ता ने कहा कि दिल्ली में इस साल जनवरी में एलपीजी सिलेंडर का दाम 694 रुपये था, जिसे फरवरी में बढ़ाकर 719 रुपये प्रति सिलेंडर किया गया। 15 फरवरी को दाम बढ़ाकर 769 रुपये कर दिए गए। इसके बाद 25 फरवरी को एलपीजी सिलेंडर के दाम 794 रुपये कर दिए गए। मार्च में एलपीजी सिलेंडर के प्राइस को 819 रुपये कर दिया गया। 

उन्होंने कहा कि मोदी के राज में बीते सप्ताह एलपीजी पर 25 रूपये बढा दिए गए। दिल्ली में अब यह सिलेंडर 834 रूपये का मिल रहा है। देश के विभिन्न राज्यों में इसकी कीमतें कितनी बढ गई होगी।

दूसरा पेट्रोल-डीजल के दाम का बढने से टृांसपोर्ट का खर्चा बढेगा और मंहगाई एक बार फिर लोगों के घरों तक पहुंच जायेगी। ऐसे में आम आदमी अपना घर कैसे चलायेंगे। हम मोदी सरकार से अनुरोध करते है कि वह विकास तो करें, लेकिन विकास के नाम पर लोगों के घरों को उजाडने का काम ना करें।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education