expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Online Education


बौंसी न्यूज़: उत्पाद विभाग को मिली बड़ी सफलता, ट्रक में छुपा कर ले जा रहे लगभग 35 लाख रुपए मूल्य की विदेशी शराब को किया गया जप्त, साथ ही ड्राइवर एवं खलासी गिरफ्तार

ग्राम समाचार,बौंसी,बांका। 

उत्पाद विभाग की विशेष टीम ने झारखंड से लाई जा रही लगभग 35 लाख रुपए मूल्य की विदेशी शराब की एक बड़ी क्षेत्र पकड़ने में कामयाबी हासिल की। जानकारी के अनुसार अपर मुख्य सचिव मध्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग के निर्देशानुसार सोमवार की देर रात चलाए गए विशेष वाहन चेकिंग अभियान के क्रम में मंगलवार को बौंसी भलजोर चेक पोस्ट से 445 कार्टून विदेशी शराब के साथ दो तस्कर को गिरफ्तार किया गया। बताया गया कि, उत्पाद विभाग 

जप्त की गई शराब के साथ ट्रक

को गुप्त सूचना मिली थी कि, झारखंड से विदेशी शराब की एक बहुत बड़ी खेप बिहार के सुपौल जिले में ले जाई जा रही है। छापेमारी का नेतृत्व कर रहे उत्पाद निरीक्षक प्रभात कुमार झा ने बताया कि, हंसडीहा की ओर से आती हुई एक संदिग्ध ट्रक को रोका गया। ट्रक की तलाशी के दौरान प्लास्टर ऑफ पेरिस सीमेंट के बोरे के नीचे छिपाकर 445 कार्टून विदेशी शराब ले जाया जा रहा था। साथ ही ड्राइवर एवं खलासी को गिरफ्तार 

गिरफ्तार ड्राइवर एवं खलासी

किया गया। गिरफ्तार ड्राइवर एवं खलासी की पहचान मोहम्मद अकरम सुपौल एवं मोहम्मद इरशाद सहरसा निवासी के रूप में की गई। गिरफ्तार ड्राइवर एवं खलासी से पूछताछ के दरमियान जो जानकारी मिली है। उसके मुताबिक शराब की एक बड़ी खेप झारखंड से सुपौल जिला ले जाई जा रही थी। जहां इसे किसी रूपेश कुमार नामक व्यक्ति के सुपुर्द किया जाना था। वही शराब की कुल मात्रा 15552 बोतल में 3931.920 लीटर विदेशी शराब जप्त किया गया। उत्पाद अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार तस्कर को जेल भेजा जा रहा है। 

कुमार चंदन,ग्राम समाचार संवाददाता,बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें