Rewari News : आमदनी बढ़ाने के लिए अपनी तकनीक और हुनर को दूसरे किसानो से करे सांझा : ACS

रेवाड़ी, 10 जून। श्रम, सैनिक एवं अद्र्घसैनिक कल्याण, प्रिंटिंग एवं स्टेशनरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव वीएस कुंडू ने प्रगतिशील किसानों का आह्वïन किया है कि वे अपनी तकनीक व हुनर को अन्य किसानों के साथ भी सांझा करें ताकि वे भी अपनी आमदनी बढ़ा सकें। उन्होंने कहा कि किसानों को जो भी टैक्निकल स्पॉट की जरूरत है वह उनको उपलब्ध करा दी जाएगी।



श्री कुंडु आज जिला सचिवालय सभागार में प्रगतिशील किसानों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कम पानी व कम खाद का प्रयोग कर अच्छी फसल ले और पर्यावरण भी ठीक रहें व मुनाफा भी अच्छा हो, इसके लिए ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक करें।
अतिरिक्त मुख्य सचिव ने जिला के प्रगतिशील किसानों से उनके अनुभव सांझा किए। कंवाली के किसान यशपाल ने बताया कि वर्ष 2014 से खेती कर रहे थे। उन्होंने सब्जी उगाना शुरू किया और अन्य किसानों को अपने अनुभव सांझा व प्रेरित करने के लिए एक व्हाट्सअप गु्रप भी बनाया हुआ है। उन्होंने बताया कि वह एक एकड़ में अलग-अलग प्रकार की सब्जियां लगाते है ताकि रिस्क मैनेजमेंट बना रहें। निमोठ गांव के कृष्ण कुमार ने बताया कि ड्रीप के माध्यम से वे खेती करते है और नाम मात्र खाद का प्रयोग करते है तथा अच्छा मुनाफा ले रहे है। जडथल के सुरेन्द्र ने बताया कि वे 3 साल से अरण्ड की खेती कर रहे है  तथा उन्हें अच्छा लाभ मिल रहा है। ढाणी भाण्डोर के  पुष्पेंद्र ने बताया कि वे आग्रेनिक खेती करते है, जिनमें तरबूज, किन्नू, आडू, निम्बू उनकी मुख्य फसल है। केवल एक ही समस्या है कि हमारा क्षेत्र डार्क जोन में आता है तथा नया कनैक्शन लेने के लिए बडी परेशानी होती है। बालियर खुर्द के काशीराम ने बताया कि वे एक एकड में 10 बकरियों से उन्होंने कार्य शुरू किया अब वे मछली, बतख, मुर्गे आदि व मसरूम की खेती करते है। वे एक एकड़ में 3 लाख रूपए तक कमा लेते है उन्हें मार्किट की कोई परेशानी नहीं है।
एसीएस ने कहा कि एफपीओ को बनाएं ताकि उन्हें फसल बेचने में कोई परेशानी न हो। डीसी यशेन्द्र सिंह ने कहा कि दिल्ली जयपुर हाईवे पर किसान फ्रूट सब्जियां बेचते है, यदि किसान सहमत हो तो उन्हें जिला प्रशासन द्वारा जगह उपलब्ध करा दी जाएगी ताकि वे खुद अपनी उपज बेच सकें ताकि उन्हें अच्छा मुनाफा मिल सकें। किसानों ने कहा कि डीसी का सुझाव अच्छा है इससे जो ब्रोकर बीच में होते है उनसे पीछा छुडेगा तथा सीधा लाभ मिलने का एक प्लेटफार्म मिलेगा।
Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Online Education