expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Chandan News: पीडीएस दुकानदार नहीं देता गरीबों को राशन, स्थानीय मुखिया पर लगाया आरोप

ग्राम समाचार,चांदन,बांका। चांदन प्रखंड के दक्षिणी बारने पंचायत अंतर्गत मंझली गांव 5 नंबर वार्ड निवासी पुजार खैरा समाज को पीडीएस दुकानदार के द्वारा कार्ड धारी का अंगूठा लगवा कर राशन नहीं देने का मामला प्रकाश में आया। ज्ञात हो कि सरकार द्वारा गरीबों को पेट पालने के लिए गरीब परिवारों को मिलने वाली राशन मुहैया कराई है, लेकिन पिडीएस दुकानदार अपने मनमानी ढंग से गरीबों को राशन देते हैं इस संबंध में गरीब मजदूर संतोषी पुजार, राजेंद्र बृहस्पति बिरजू लटन उचित बालो पुजार इत्यादि ने बताया की पीडीएस दुकानदार नवल यादव के 

द्वारा हम गरीब परिवारों को पहले पॉक मशीन पर अंगूठा लगवा लेते हैं और राशन बाद में देने की बात कर हम लोगों को राशन नहीं दिए जाते हैं। जिस कारण 2-3 महीने से राशन नहीं मिला। इस दौरान ग्रामीण मजदूर बृहस्पति पुजार ने बताया कि स्थानीय मुखिया की मिलीभगत के कारण पीडीएस दुकानदार हम गरीबों को राशन नहीं दिए जाते हैं जिस कारण हम गरीबों का पेट पालना दुर्लभ होता जा रहा है। इधर हम मजदूरों से सरकारी योजना मनरेगा अंतर्गत कोई काम मजदूरी करने नहीं लिए जाते 

हैं। इस दौरान राजेंद्र पुजार ने बताया कि पीडीएस दुकानदार के द्वारा 5 युनिट मेंबर का 25 केजी अनाज देते थे जिसमें 15 केजी चावल 10 केजी गेहूं के एवज में ₹100 लिया करते हैं फिर भी और पैसे मांगे जाते हैं इस संबंध में स्थानीय मुखिया सुरेश यादव ने बताया कि इस तरह की समस्या मेरे समक्ष नहीं आया है जांच उपरांत गरीब परिवारों को राशन अभिलंब दिलाने का प्रयास करूंगा। जबकि पीडीएस दुकानदार नवल किशोर यादव ने बताया कि मेरे द्वारा सभी खाद उपभोक्ता को समय-समय पर दे रहा हूं मेरे ऊपर लगाए गए आरोप मनगढ़ंत है। 

उमाकांत साह,ग्राम समाचार संवाददाता,चांदन,बांका।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें