expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bounsi News: ट्रक से कोयला उतारने गए मजदूर की दुर्घटना में मौत

 ग्राम समाचार, बौंसी, बांका।

थाना क्षेत्र के गोलहट्टी गांव समीप बिहार झारखंड बॉर्डर पर शनिवार देर रात एक कामगार की मौत का मामला प्रकाश में आया है। कामगार की पहचान झारखंड के गोड्डा जिला अंतर्गत लोगांय  गांव निवासी मो० अयूब आलम, (40 वर्ष), पिता मो० अरमानी के रूप में हुई है। स्वजनों ने रविवार को स्थानीय पुलिस को बताया कि, गोलहट्टी दुर्गा मंदिर समीप ईट भट्टा के पास एक कोयला लदे ट्रक को उतारा जा रहा था। इसी दौरान ट्रक के आगे पीछे करने के 

दौरान कामगार ट्रक की चपेट में आ गया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। कामगार को शनिवार सुबह रेफरल अस्पताल पहुंचाया गया। जहां ड्यूटी पर तैनात डॉ ऋषिकेश सिन्हा ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। साथ ही इसकी सूचना बौंसी पुलिस को भी दी गई थी। रेफरल अस्पताल द्वारा शव को एंबुलेंस द्वारा गोड्डा लोगांय भेज दिया गया। बताया जाता है कि, रविवार की सुबह शव को दफनाने के पहले ग्रामीणों के द्वारा संदेहास्पद मौत की बात बता कर पुनः शव को एंबुलेंस के जरिए बौसी थाना लाया गया। जानकारी मिलने के बाद थानाध्यक्ष राजकिशोर सिंह के द्वारा बौंसी पुलिस के एसआई केदार पासवान के साथ-साथ अन्य पुलिस वालों को दुर्घटना स्थल पर भेजा गया। जांच के बाद बताया गया कि, घटनास्थल झारखंड थाना के पोड़ैयाहाट में पड़ता है। बताया गया की मो० अयूब अपने ही गांव के अब्दुल रशीद के पुत्र मोहम्मद हारून के साथ कोयला वाले ट्रक से गोलहट्टी गांव आया था। जहां गांव के नकुल मांझी और शालू यादव के ईंट भट्टे पर कोयला उतारने के बाद वापसी में डाला से मजदूर के सर में चोट लग गई थी। पुलिस प्रशासन के द्वारा झारखंड थाना क्षेत्र का मामला होने के कारण शव को वापस भेज दिया गया। थानाध्यक्ष राजकिशोर सिंह ने बताया कि, मामला उनके क्षेत्राधिकार से बाहर था। जिसके बाद परिजनों को पोड़ैयाहाट थाना जाने की सलाह दी गई।

कुमार चंदन, ग्राम समाचार संवाददाता, बौंसी।

Share on Google Plus

Editor - कुमार चन्दन, बाँका (बिहार)

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें