expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Pakur News: लिट्टीपाड़ा हौसले के पंख से उंची उड़ान, खेत मजदूरी से लेकर होटल मालिक का अनिता मुर्मू ने किया सफर


ग्राम समाचार, पाकुड़। जिला मुख्यालय पाकुड़ से 35 किमी दूर लिट्टीपाड़ा प्रखंड़ के बरमसिया गांव में गोविंदपुर – साहिबगंज स्टेट हाइवे पर स्थित यह होटल खाने के शौकिन लोगों को लुभाता है यहां आम राहगिरों के साथ ही वीआइपी लोगों का भी जमावड़ा घर जैसा स्वादिष्ट भोजन एवं चाय के लिए लगता है इस होटल का नाम ऐसे तो एस.बी. होटल है। लेकिन, इसे लोग दीदी हाइवे होटल के नाम से ज्यादा जानते हैं होटल संचालक की सरल एवं सहज स्वभाव के साथ गुणवत्ता पूर्ण स्वादिष्ट भोजन को लेकर बहुत कम समय में ही यह होटल मशहूर हो गया है। साथ ही आस – पास के आदिवासी महिलाओं का भी इसी काम से जुड़ने का रूझान भी बढ़ने लगा है। इस होटल का संचालन गांव की बहू अनिता मुर्मू कर रही है कुछ माह पहले तक अनिता अपने घर – गृहस्थी के दायित्वों का निष्पादन करने के लिए आस – पास के खेतों में मजदूरी व अन्य कार्यों को करती थी लेकिन, इससे सब कुछ नहीं हो पाता, आर्थिक तंगी दरवाजे पर हमेशा दस्तक देती रहती अनिता का वर्ष 2005 में विवाह हुआ था  वह स्नातक उतीर्ण थी उसे कुछ सम्मान जनक एवं बेहतर आमदनी वाला काम करना था जिससे घर गृहस्थी से जुड़े सभी दायित्वों को वह आसानी से पूरे कर सके। इसी क्रम में वह गांव में गठित हो रही सवेरा आजिविका महिला समूह से जुड़ी और फिर ग्राम संगठन नारी शक्ति लिट्टीपाड़ा से जुड़ना हुआ अनिता ने अपने कुछ करने की इच्छा ग्राम संगठन एवं झारखंड स्टेट लाइवलीहूड प्रमोशन सोसाइटी जेएसएलपीएस के प्रखंड प्रतिनिधियों को बताया जिसके बाद अनिता के हौसले को देखते हुए के हौसले को देखते हुए घर की देहरी से बाहर निकलने के लिए प्रेरित किया। पैंसों का इंतजाम कैसे होगा इसका रास्ता बताया अनिता के हौसलें को पंख लग चूकें थे। वह बताती है कि ग्राम संगठन एवं झारखंड स्टेट लाइवलीहूड प्रमोशन सोसाइटी (जेएसएलपीएस) के सहयोग से मैंने अपना होटला खोलने का निर्णय लिया स्टार्ट अप विलेज उद्यमिता कार्यक्रम के तहत उसे तीस हजार रुपए की ऋण उपलब्ध कराई गई। वहीं, उसे सखी मंडल से राष्ट्रीय ग्रामीण आजिविका मिशन एनआरएलएम से 20 हजार ऋण प्राप्त किया आर्थिक मदद मिलने के बाद उसने अपने लक्ष्य को पाने का दौड़ लगाया और वह सफल हुई वर्ष 2020 के दिसंबर माह में उसने हाइवे पर होटल खोला, जो आज दीदी हाइवे के नाम से मशहूर है। अनिता कहती है कि वह आज जो कुछ भी है उसमें उसकी मेहनत एवं ग्रामीण विकास विभाग के जेएसएलपीएस की अहम भूमिका है उसे हर कदम जेएसएलपीएस का साथ मिला। समय – समय पर अधिकारियों का मोटिवेशन, प्रशिक्षण, लेखा संधारण की जानकारी एवं सफल होने की प्रेरणा मिली। अनिता बताती है कि होटल संचालन से उसे प्रतिदिन एक हजार की वर्तमान में कमाई हो रही है अब घर – गृहस्थी का पहिया पहले से बेहतर घूम रहा है। उम्मीद है आने वाले दिनों में यह और बढ़ेगा उसने बताया कि कुछ दिन पहले ही उसने अपने बच्चों का नामांकन निजी विद्यालय में कराया है, आगे वह उन्हें बड़े शहरों में पढ़ने के लिए भेजना चाह रही है हर कदम परिवार का भी साथ मिल रहा है। पलाश ब्रांड अंतर्गत गोविंदपुर – साहिबगंज हाइवे पर लिट्टीपाड़ा प्रखंड के बरमसिया में दीदी अनिता मुर्मू द्वारा होटल का संचालन किया जा रहा है। स्टार्ट अप विलेज उद्यमिता कार्यक्रम एवं राष्ट्रीय ग्रामीण आजिविका मिशन के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराया गया था अनिता के पहल से अन्य महिलाएं भी प्रेरित हो रही है।


Share on Google Plus

Editor - रंजीत भगत, पाकुड़

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें