expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News : धारूहेड़ा नगर पालिका की टिकट जजपा के खाते में जाने के बाद भाजपा में बगावत के सुर

रेवाड़ी नगर परिषद् और नगरपालिका धारूहेड़ा के चुनाव के चलते राजनितिक सरगर्मिया तेज हो गई है। 27 दिसंबर को रेवाड़ी नप के 31 वार्डों जबकि धारूहेड़ा नपा के लिए 17 वार्डो के चुनाव होने है जिसको लेकर नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। धारूहेड़ा नगर पालिका की टिकट जजपा के खाते में जाने के बाद भाजपा में बगावत के सुर तेज हो गए हैं। प्रधान पद के लिए तैयारी में जुटे भाजपा के युवा मोर्चा अध्यक्ष संदीप बोहरा बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ने का मन बना रहे हैं। संदीप बोहरा ने रविवार को तहसील के निकट स्थित अपने कार्यालय पर समर्थकों की बैठक बुलाई और अपने समर्थको से रायसुमारी करने के बाद एक दो दिन में चुनाव लड़ने के फैसले पर कोई निर्णय लेने की बात कही है। धारूहेड़ा स्थित अपने कार्यालय पर मीडिया से बातचीत में संदीप बोहरा ने उदासी भरे लहजे में कहा कि गठबंधन की सरकार ने टिकट बंटवारे में जल्दबाजी की है इसलिए टिकट वितरण पर दोबारा विचार किया जाये क्योंकि वे पार्टी के प्रत्याशी को हारते हुए नहीं देख सकते वैसे भी जिस प्रत्याशी को टिकट दी गई है वह बिलकुल नया है न उसका कोई राजनितिक अनुभव है और न व् जनता के बीच का उम्मीदवार है ऐसे में जनता उम्मीदवार को कैसे पसंद कर सकती है जबकि उनका दस से पंद्रह साल का तजुर्बा है उनकी माँ भी चेयरमैन थी और काफी जनसेवा करते हुए जनता के बीच रहे है। संदीप बोहरा ने बताया कि सन 2008 में नगरपालिका धारूहेड़ा अस्तित्व में आई थी तब से वे जनसेवा में सक्रीय रहे है 2014 में कांग्रेस की सरकार थी उस समय कांग्रेस ने विकास में रुकावट डाल दी। उन्होंने कहा कि उनकी लड़ाई धारूहेड़ा में जेलदारी प्रथा के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि वे केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत के समर्थक रहे है। उन्होंने नए प्रत्याशी मान सिंह जेलदार पर निशाना साधते हुए कहा कि मुझ में और मान सिंह में 19-20 का अंतर होता तो चल जाता यहाँ तो अंतर 00-100 का है।यह तय माना जा रहा है कि संदीप बोहरा अब निर्दलीय ही चुनाव में ताल ठोकने की रणनीति बनाएंगे। संदीप बोहरा को हाल ही में भाजपा में युवा जिलाध्यक्ष की जिम्मेदारी मिली है। संदीप पूर्व चेयरपर्सन सुदेश बोहरा के पुत्र हैं तथा उन्होंने चेयरमैन पद के लिए भाजपा के पास आवेदन भी किया था। जजपा से मंजीत जेलदार के पुत्र मानसिंह जेलदार को टिकट दिए जाने पर संदीप बोहरा का कहना है कि बिना सोचे समझे ही टिकट का वितरण किया गया है। टिकट देने से पूर्व एक बार सर्वे जरूर कराना चाहिए था। संदीप ने कहा कि उन्होंने अपने समर्थकों के साथ आज रविवार को बैठक की है। समर्थक अगर कहेंगे तो वह निश्चित तौर पर चुनावी मैदान में उतरेंगे। उन्होंने कहा कि यह पार्टी से बगावत नहीं है बल्कि अपने अधिकारों की लड़ाई है। शुरू से भाजपा में रहे है और आगे भी रहेंगे पर पार्टी एक बार टिकट बंटवारे के अपने फैसले पर पुनर्विचार जरूर करे। उन्होंने कहा कि वे 16 दिसंबर को नामांकन पत्र दाखिल करेंगे। उन्होंने कहा कि जननायक जनता पार्टी ने धारूहेड़ा नगर पालिका प्रधान पद के लिए अपना उम्मीदवार तय कर दिया है। जजपा ने मंजीत जेलदार के पुत्र मानसिंह को टिकट देकर सबको चौंकाया है। मंजीत जेलदार ने करीब एक माह पूर्व ही जजपा ज्वाईन की थी। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला उनके घर पर आए थे। मानसिंह को टिकट दिए जाने के बाद भाजपा में बगावत शुरू हो गई है।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें