expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Rewari News रेवाडी, कोसली व बावल में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया

हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण पंचकूला के निर्देशानुसार न्यायिक परिसर रेवाडी, कोसली व बावल में शनिवार को माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रेवाड़ी दिनेश कुमार मितल की अध्यक्षता में व सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रेवाडी कीर्ति जैन की देख रेख में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस लोक अदालत में माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश रेवाड़ी दिनेश कुमार मितल,  प्रधान न्यायाधीश पारावारिक न्यायालय रेवाड़ी नरेश कुमार, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश रेवाड़ी सुनील कुमार यादव, अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी कपिल राठी, सिविल जज जुनियर डिविजन रेवाड़ी अनुराधा, अतिरिक्त सिविल जज कोसली मिनाक्षी यादव,  सिविल जज जुनियर डिविजन बावल अमनदीप की अदालतों के दवारा 759 मामलों का मौके पर ही आपसी सहमति से निपटारा किया गया। जिनमें 27 मोटर दुर्घटना मुवावजा के मामलों का निपटारा करते हुये एक करोड़ 80 लाख 10 हज़ार पांच सौ रुपए (18010500/- ) रूपये मोटर दुर्घटना में मृतकों के आश्रितों/घायलों/याचीगण को स्वीकृत किये गये व अन्य मामलो का भी निपटारा किया गया । इसी तरह 39 चैक बाउंस व 26 दिवानी मामलें व 600 बिजली के मामलें व अन्य मामलो का भी निपटारा किया गया। इस अवसर पर माननीय कीर्ति जैन मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रेवाड़ी ने बताया कि लोक अदालत के माध्यम से वादों का निपटारा जल्द कराया जा सकता है। लोक अदालत के माध्यम से निर्णित किये गये मामलों में आगे कोई अपील/पुनरीक्षण दायर नहीं की जा सकती, जिससे समय व धन की बचत होती है। इसके अलावा कीर्ति जैन ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रेवाड़ी द्वारा एक हेल्पलाइन नम्बर 01274-220062 चलाया हुआ है जिस पर आमजन किसी भी प्रकार की कानूनी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Share on Google Plus

Editor - राजेश शर्मा : रेवाड़ी (हरि.) - 9813263002

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें