expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur news:किसान आंदोलन के समर्थन किसान संघर्ष समिति की बैठक


ग्राम समाचार, भागलपुर। जिले के नाथनगर प्रखंड के रत्तीपुर बैरिया पंचायत के अजमेरी पुर ग्राम में शुक्रवार को किसान संघर्ष समिति की एक बैठक की आयोजित की गई। जिसकी अध्यक्षता बुजुर्ग किसान राजेंद्र प्रसाद शर्मा ने किया। इस दौरान दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन तथा तीनों किसान अधिनयम के विरोध में किसानों ने मोदी सरकार के किसान विरोधी नीतियों की भर्त्सना की गई। राष्ट्र सेवा दल बिहार के कार्याध्यक्ष उदय ने कहा कि एक तरफ जहां किसानों को अपने उत्पादों के दाम की गारंटी नहीं है, वहीं दूसरी तरफ सरकार कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग के नाम पर किसानों को जमीन से बेदखल करने पर उतारू है। यह तीनों बिल किसानी और खेती के साथ कृषि बाजार पर कॉर्पोरेट लूट की छूट की साजिश है। सार्थक भरत ने कहा कि किसानों की एकजुटता ही संसद और सरकार की मनमानी और लोकतंत्र की हत्या को रोक सकती है। जिस प्रकार जमाखोरी को छूट देती हुई यह  अधिनियम पूरे देश की आर्थिकी को तबाह करने के लिए लाया जा रहा है। इससे सिर्फ और सिर्फ बड़ी कंपनियों को फायदा होगी। विजय कुमार शर्मा और सुनील कुमार मंडल मोदी सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ एकजुटता का आह्वान किया। किसान संघर्ष समिति के संचालन के लिए अंगेश कुमार को संयोजक और राजीव कुमार को सहसंयोजक चुना गया। किसान संघर्ष समिति के बैनर तले एक दिवसीय उपवास धरना का कार्यक्रम रत्तीपुर बेरिया के विषहरी मंदिर प्रांगण में कर किसान आंदोलन को समर्थन देने का फैसला लिया गया। बैठक में चंदा देवी, सुखराज मंडल, रविंद्र मंडल, चतुर्भुज प्रसाद, सुधीर मंडल, सच्चिदानंद मंडल, संतोष कुमार मंडल, विशाल कुमार, शत्रुघन मंडल, जोगन मंडल, अजय कुमार टुनटुन, नवल किशोर मंडल, अजय कुमार, अवधेश मंडल, अंगद कुमार, सोनू कुमार, बाबू करण कुमार, सूर्य प्रकाश, बिहारी मंडल, रामस्वरूप मंडल, अभिषेक कुमार इत्यादि उपस्थित थे

Share on Google Plus

Editor - Bijay shankar

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें