expr:class='"loading" + data:blog.mobileClass'>

Bhagalpur News: शिवम हत्याकांड: अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर परिजनों ने फूंका जिला प्रशासन का पुतला,लगाए प्रशासन मुर्दाबाद के नारे

 

प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते परिजन व ग्रामीण

ग्राम समाचार,भागलपुर अकबरनगर के खाद व्यवसायी अनुजदेव सिंह के इकलौते बेटे सुशांत कुमार शिवम के हत्यारों की पुलिस ना तो पता लगा सकी है और ना ही गिरफ्तारी कर सकी है 5 नवंबर को बैंक में रुपए जमा कराने जा रहे शिवम से अपराधियों ने 25 लाख रुपये लूट कर गोली मारकर हत्या कर दी थी।

वहीं इस घटना को आठ दिन बीत गए हैं लेकिन प्रशासन स्तर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है।वहीं खाद व्यवसायी अनुजदेव सिंह कहते हैं कि डीआईजी ने भरोसा दिलाया था कि पुलिस टीम घटना का पता लगा रही है। लेकिन अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

उसके बाद खाद व्यवसायी एसएसपी से जाकर मिले एसएसपी आशीष भारती ने कहा था कि चुनाव के कारण जांच में देरी हुई है लेकिन घटना का खुलासा कर दिया जाएगा परिवार को हर संभव मदद की जाएगी मिलने वालों में खाद व्यवसायी के साथ राजन कुमार सिंह संबित कुमार और रवि कुमार सिंह मौजूद थे।हालांकि डीएसपी विधि व्यवस्था नेसार अहमद शाह समेत जांच टीम को मतगणना में नहीं लगाया गया था।

अपराधियों की गिरफ्तारी में हो रही देरी को लेकर शुक्रवार को मृतक के परिजन और स्थानीय ग्रामीणों ने खेरेहिया स्थित मृतक के घर के पास अकबरनगर भागलपुर एनएच 80 के किनारे बैठ घंटों धरना प्रदर्शन किया।इस दौरान जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बेखौफ घूम रहे अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी कर इंसाफ की मांग की है।

वहीं ग्रामीणों ने जिला प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा है कि जिला प्रशासन शिवम के हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर सजग नहीं है जिला प्रशासन व थानाध्यक्ष कि इस मामले में की गई सुस्त कार्रवाई से आक्रोशित होकर परिजन सहित ग्रामीणों ने शुक्रवार को अकबरनगर भागलपुर मुख्य मार्ग पर उनका पुतला फूंक जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की

Share on Google Plus

Editor - रजनीश कुमार

ग्राम समाचार से आप सीधे जुड़ सकते हैं-
Whatsaap Number -8800256688
E-mail - gramsamachar@gmail.com

* ग्राम समाचार से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

* ग्राम समाचार के "खबर से असर तक" के राष्ट्र निर्माण अभियान में सहयोग करें। ग्राम समाचार एक गैर-लाभकारी संगठन है, हमारी पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
- राजीव कुमार (Editor-in-Chief)

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें